आतंक पर पाकिस्तान को FATF कार्य योजना को लागू करने की जरूरत है: फ्रांस

आतंक पर पाकिस्तान को FATF कार्य योजना को लागू करने की जरूरत है: फ्रांस
इमरान खान ने दी पाकिस्तानी टीम को इंग्लैंड दौरे की इजाजत

फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लेनिन ने भारत में सीमा पार से आतंकवाद (Terrorism) के मुद्दे पर भी चर्चा की और कहा कि पाकिस्तान को अपने यहां एफएटीएफ की कार्य योजना को लागू करने की जरूरत है.

  • Share this:
नई दिल्ली. फ्रांस (France) के राजदूत ने कहा है कि कोरोना वायरस संकट (Covid 19 pandemic) के बावजूद हिंद-प्रशांत क्षेत्र में तनाव नहीं घटा है और भारत तथा फ्रांस, दोनों इस क्षेत्र में चल रही गतिविधियों से वाकिफ है. ऐसे समय में, जब दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है, रणनीतिक लिहाज से महत्वपूर्ण जल क्षेत्र में चीन द्वारा सैन्य मौजूदगी बढ़ाए जाने का परोक्ष रूप से उन्होंने हवाला दिया.

फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लेनिन ने पीटीआई-भाषा को एक साक्षात्कार में भारत में सीमा पार से आतंकवाद के मुद्दे पर भी चर्चा की और कहा कि पाकिस्तान को अपने यहां एफएटीएफ की कार्य योजना को लागू करने की जरूरत है.

उन्होंने कहा, 'फ्रांस ने सभी तरह के आतंकवाद को रोकने में हमेशा भारत की मदद की है. इसमें सीमा पार से आतंकवाद का मुद्दा भी है. ' उन्होंने कहा, 'हमें खुशी है कि आतंकवाद को वित्तीय मदद रोके जाने के मुद्दे पर हम भारत के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.' फ्रांस के राजदूत ने कहा कि पाकिस्तान को वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (एफएटीएफ) की कार्य योजना को लागू करना चाहिए .



उन्होंने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र के घटनाक्रम पर फ्रांस नजर रखे हुए है. राजदूत ने कहा, ‘‘पिछले कुछ हफ्ते में हमने देखा है कि महामारी के बावजूद इस क्षेत्र में खासकर दक्षिण चीन सागर को लेकर तनाव नहीं घटा है.' चीन की, सैन्य मौजूदगी में इजाफे के मद्देनजर अमेरिका ने, दक्षिण चीन सागर में अतिरिक्त बलों को भेजा है. उन्होंने कहा, 'हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मौजूदा गतिविधियों पर हम भारत के साथ लगातार सूचनाएं साझा कर रहे हैं.'



राजदूत ने कहा कि डेटा की सुरक्षा के मुद्दे पर फ्रांस भारत की मदद कर सकता है . खास कर ऐसे समय में जब कोरोना वायरस महामारी से निपटने में संपर्क की तलाश के लिए ऐप का महत्व बढ़ गया है. सरकार ने कोविड-19 के मरीज के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने के लिए आरोग्य सेतु ऐप शुरू किया है जिसको लेकर नागरिकों के मन में निजता के हनन की आशंका भी पैदा हुई है . हालांकि सरकार ने ऐसी आशंकाओं से इंकार किया है .

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी संबंधित साइबर सुरक्षा एजेंसियां और हमारा तंत्र एक साथ काम कर रहा है . हमने 5जी की नीति पर चर्चा की है . हम निजी आंकड़ों की सुरक्षा के मुद्दे पर भी चर्चा कर सकते हैं, महामारी के समय ऐप के जरिए संपर्क का पता लगाने में इसका बड़ा महत्व है. ’’ भारत और फ्रांस के बीच समग्र द्विपक्षीय संबंधों पर उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी लगातार मजबूत हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading