फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने कहा- बेलारूस की सत्ता से लुकाशेंको को जाना होगा

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने कहा कि बेलारूस नेता अलेक्जेंडर लुकाशेंकों को सत्ता से जाना होगा. (Photo: AP)
फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने कहा कि बेलारूस नेता अलेक्जेंडर लुकाशेंकों को सत्ता से जाना होगा. (Photo: AP)

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन (French President Emmanuel Macron) ने कहा कि बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको (Belarus’s leader Alexander Lukashenko) का सत्ता से बेदखल होना पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 1:15 PM IST
  • Share this:
पेरिस. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन (French President Emmanuel Macron) ने कहा कि बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको (Belarus’s leader Alexander Lukashenko) का सत्ता से बेदखल होना पड़ेगा. उन्होंने यह बात रविवार को एक फ्रांसीसी साप्ताहिक अखबार से कही. जर्नल डु डिमंच से मैक्रोने ने कहा कि यह साफ हो चुका है कि लुकाशेंको को इस्तीफा देना होगा. मैक्रोन ने यूरोपीय संघ द्वारा एक दिन पहले ही लुकाशेंकों को बेलारूस के राष्ट्रपति के बतौर मान्यता देने से मना कर दिया.

'लुकाशेंको वर्चस्ववादी व्यक्ति हैं, लोकतंत्र में नहीं करते विश्वास'

उन्होंने कहा​ कि बेलारूस में सत्ता का संकट है और एक वर्चस्ववादी व्यक्ति लोकतांत्रिक बातों को स्वीकार नहीं कर सकता है और वह सैन्य ताकतों के भरोसे है. यही वजह है कि लुकाशेंको को सत्ता से जाना ही होगा.



26 सालों से सत्ता पर काबिज हैं ​लुकाशेंको
गौरतलब है कि पिछले 26 सालों से बेलारूस की सत्ता पर काबिज हैं. उन्हें यहां लोग 'अंतिम तानाशाह' के रूप में जानते हैं. बेलारूस में चुनाव का परिणाम आने के बाद एलेक्जेंडर लुकाशेंको (alexander lukashenko) छठी बार लगातार राष्ट्रपति पद पर आसीन हुए हैं. बेलारूस के विपक्षी दल जिसका नेतृत्व स्वेतलाना कर रही हैं, का कहना है कि लुकाशेंको ने चुनाव जीतने के लिए ठगी की है. पु​लाशेंको के खिलाफ बेलारूस की राजधानी मिंस्क में लाखों लोग सड़कों पर उतर आए हैं और लगातार लुकाशेंको से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: आतंकवाद के मुद्दे पर नेपाल ने पाकिस्तान को लताड़ा, भारत की तारीफ की

शार्ली एब्दो के पुराने ऑफिस के बाहर चाकूबाजी, संदिग्ध आरोपी पाकिस्तानी ​निकला  

महिलाएं लगातार भारी तादाद में धरना दे रही हैं. प्रदर्शनकारी रैली निकाल रहे हैं और लुकाशेंको से इस्तीफा देने को कह रहे हैं. महिलाएं नारे लगा रही थीं- यह हमारा शहर है और आप हमें बेहतर तरीके से सुरक्षा दे सकते हैं. बहुत सारी महिलाओं ने इस मौके पर राष्ट्रीय पोशाक पहनी हुई थीं. राजधानी मिंस्क में 9 अगस्त के बाद से ही भारी संख्या में पुलिस और सुरक्षा बल के जवान तैनात किए गए. राजधानी के अलावे छोटे पैमाने पर रैलियां दूसरे शहरों और कस्बों में भी आयोजित ​की जा रही है. पुलिस और सेना प्रदर्शनकारियों का दमन करने का कोई मौका नहीं चूक रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज