G-20 शिखर सम्मेलन: PM मोदी ने हर मोर्चे पर उठाया आतंकवाद का मुद्दा, कहा - बंद हो मदद का हर रास्ता

G-20 शिखर सम्मेलन: PM मोदी ने हर मोर्चे पर उठाया आतंकवाद का मुद्दा, कहा - बंद हो मदद का हर रास्ता
G-20 में पीएम मोदी ने आतंकवाद को दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14वें जी-20 शिखर सम्मेलन में हर मोर्चे पर पूरी ताकत के साथ आतंकवाद का मुद्दा उठाया. उन्होंने अतंरराष्ट्रीय समुदाय से आतंकवाद का समर्थन करने वाले सभी रास्तों पर रोक' लगाने की मांग की.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जापान के ओसाका में हो रहे 14वें G-20 शिखर सम्मेलन में पूरे दमखम के साथ आतंकवाद का मुद्दा उठाया.  उन्होंने अतंरराष्ट्रीय समुदाय से आतंक का समर्थन करने वाले हर रास्ते को बंद करने  और हर जरिये पर रोक लगाने की मांग की. आतंकवाद को दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह न केवल मासूमों का हत्यारा है, बल्कि नकारात्मक तौर पर वैश्विक अर्थव्यवस्था और सांप्रदायिक सौहार्द्र पर भी बुरा असर डालता है.

पीएम मोदी जापान दौरे के दूसरे दिन G-20 सम्मेलन के अलावा कई बहुपक्षीय बातचीत में  भी शामिल हुए. इनमें अमेरिका, दक्षिण कोरिया, सऊदी अरब और जर्मनी शामिल थे. पीएम ने वियतनाम और वर्ल्ड बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपस के साथ भी बैठक की.

प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से की द्विपक्षीय वार्ता



पीएम मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात कर द्विपक्षीय वार्ता भी की. इस दौरान दोनों नेताओं ने भारत-सऊदी रणनीतिक साझेदारी पर चर्चा की. इस दौरान दोनों नेताओं ने ऊर्जा, व्यापार, और आतंकविरोधी मोर्चे पर सहयोग बढ़ाने की बात कही.
रूस-चीन से अनौपचारिक बैठक में भी की आतंकवाद पर बात 

पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अनौपचारिक बैठक की. बैठक के बाद विदेश सचिव ने बताया कि पीएम मोदी ने दोनों नेताओं से आतंकवाद पर ग्लोबल कॉन्फ्रेंस के आयोजन पर समर्थन मांगा. इस दौरान पीएम ने कहा कि आतंकवाद वैश्विक चुनौती है. सभी देशों को इसका खुलकर रोध करना चाहिए. पीएम को भरोसा है कि रूस और चीन इसका समर्थन करेंगे।

जापान और अमेरिका से बैठक में उठे रक्षा समेत कई मुद्दे 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जापान के पीएम शिंजो आबे के साथ बैठक में व्यापार, रक्षा व 5जी नेटवर्क पर चर्चा की. इसके बाद मोदी ने ट्वीट किया कि आज जय (Japan-America-India) त्रिपक्षीय बैठक सफल रही. हमने हिंदप्रशांत महासागर, कनेक्टिविटी बेहतर करने और आधारभूत ढांचे के विकास पर बात की. आबे और ट्रंप ने भी अपनी बात रखी.

ट्रंप के साथ हुई अलग बैठक में व्यापार पर की बातचीत  

त्रिपक्षीय बातचीत के बाद मोदी ने ट्रंप के साथ अलग से बैठक की. इस दौरान दोनों नेताओं ने व्यापार, रक्षा और 5जी नेटवर्क पर चर्चा की. इसके अलावा पीएम मोदी ने जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइन के साथ भी बैठक की. इस दौरान मर्केल के साथ आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, ई-मोबिलिटी, साइबर सिक्याेरिटी, रेलवे आधुनिकीकरण और स्किल डेवलपमेंट पर चर्चा हुई.

ये भी पढ़ें:

मुझे याद है जब आप पहली बार PM बने थे तब... ट्रंप ने मोदी के लिए कहीं ये 5 बातें

पीएम मोदी ने दुनिया को बताया-भारत कैसे बनेगा 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज