G-20 SUMMIT: ऑस्ट्रेलिया के PM ने ली सेल्फी, कहा- कितने अच्छे हैं मोदी!

G-20 SUMMIT: ऑस्ट्रेलिया के PM ने ली सेल्फी, कहा- कितने अच्छे हैं मोदी!
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक खूबसूरत सेल्फी क्लिक की है. (Twitter)

जी-20 समिट का आज आखिरी दिन है. मॉरिसन ने शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी के साथ दोनों देशों के आपसी रिश्‍तों को भी लेकर बातचीत की. इसमें व्यापार, पर्यटन का मुद्दा शामिल रहा.

  • Share this:
जापान के ओसाका शहर में जी-20 समिट (G-20 Summit) में दुनिया भर के नेता पहुंचे हैं. इन नेताओं के बीच द्विपक्षीय और त्रिपक्षीय बातचीत भी हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ओसाका में हैं. पिछले तीन दिनों में वह अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमिर पुतिन समेत कई राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात कर चुके हैं. लेकिन, इस बीच मोदी की मुलाकात अपने एक खास दोस्‍त और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन से भी हुई. मॉरिसन ने इस दौरान अपने दोस्त मोदी की तारीफ भी की.

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक खूबसूरत सेल्फी क्लिक की है. इसमें वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हंसते हुए दिखाई दे रहे हैं. मॉरिसन ने लिखा,‘कितना अच्छा है मोदी!' उन्होंने ये ट्वीट #G20OsakaSummit के साथ शेयर किया है.

जी-20 समिट में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ स्कॉट मॉरिसन




जी-20 समिट का आज आखिरी दिन है. मॉरिसन ने शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी के साथ दोनों देशों के आपसी रिश्‍तों को भी लेकर बातचीत की. इसमें व्यापार, पर्यटन का मुद्दा शामिल रहा.



जी-20 समिट में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ स्कॉट मॉरिसन


बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की है.

जी-20 समिट में शी जिनपिंग के साथ स्कॉट मॉरिसन


इस दौरान पीएम मोदी ने आतंकवाद का मुद्दा उठाया था. मोदी ने यहां पाकिस्तान के बिना नाम लिए उस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आतंकवाद दुनिया के लिए खतरा है, इससे निपटने के लिए सबको एक साथ मिलकर संघर्ष करने की जरूरत है. किसी भी रूप में इसकी फंडिंग रुकनी चाहिए. उन्होंने आतंकवाद के मुद्दे पर एक ग्लोबल कॉन्फ्रेंस की मांग भी की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज