अश्वेत की मौत पर प्रदर्शन के दौरान अमेरिका में प्रदर्शनकारियों ने बापू की प्रतिमा का किया अपमान

अश्वेत की मौत पर प्रदर्शन के दौरान अमेरिका में प्रदर्शनकारियों ने बापू की प्रतिमा का किया अपमान
बापू की प्रतिमा का किया अपमान

अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास (Indian Embassy) में लगी बापू की प्रतिमा का किया गया अपमान.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वाशिंगटन. अमेरिका (America) में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन के दौरान वॉशिंगटन डीसी (Washington DC) में भारतीय दूतावास में लगी महात्मा गांधी की प्रतिमा का प्रदर्शनकारियों ने अपमान किया. इन प्रदर्शनकारियों ने बापू की प्रतिमा को कपड़े से ढक दिया. एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि यूनाइटेड स्टेट्स पार्क पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास (Indian Embassy) की ओर से फिलहाल कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को फॉक्स न्यूज के माध्यम से कहा कि बुधवार को कहा, हमें कानून व्यवस्था बनाए रखने की जरूरत है, आपने देखा कि इन सभी जगहों पर, जहां समस्याएं हुईं, वहां पर रिपब्लिकन पार्टी सत्‍ता में नहीं है.





20 डॉलर के फर्जी नोट के मामले में कर दी ह्त्या
वाशिंगटन के मिनियापोलिस में जॉर्ज फ्लॉयड को एक दुकान में नकली बिल का इस्तेमाल करने के संदेह में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस के मुताबिक, जॉर्ज पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने 20 डॉलर (करीब 1500 रुपये) के फर्जी नोट के जरिए एक दुकान से खरीदारी की कोशिश की. इसके बाद एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पुलिस अधिकारी को घुटने से आठ मिनट तक जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन दबाते हुए देखा गया. वीडियो में जॉर्ज कहते हुए सुना जा सकता है कि मैं सांस नहीं ले सकता (आई कांट ब्रीद). बाद में फ्लॉयड की चोटों के कारण मौत हो गई.

25 मई के बाद शुरू हुए था प्रदर्शन
जॉर्ज फ्लॉयड का पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टर माइकल बेडेन और एलेशिया विल्सन के अनुसार गर्दन और पीठ पर दबाव के कारण फ्लॉयड की मौत दम घुटने से हुई. पुलिस अधिकारी द्वारा काफी देर तक गले दबाये जाने के कारण जॉर्ज को दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई. पुलिस का कहना था कि जॉर्ज ने गिरफ्तारी का शारीरिक रूप से विरोध किया, इसके बाद बल प्रयोग किया गया. फ्लॉयड की मौत की खबर के बाद मिनियापोलिस में 25 मई के बाद प्रदर्शन शुरू हो गए. प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि पुलिस वालों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और उन पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए.

ये भी पढ़ें : UN ने भी माना- भारत ही नहीं अफगानिस्तान में भी आतंकवाद फैला रहा है पाकिस्तान
First published: June 4, 2020, 10:18 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading