कोरोना के खिलाफ जंग में जर्मनी ने बढ़ाया मदद का हाथ, 'सहायता मिशन' भेजने की तैयारी

जर्मनी ने कहा, हम कोविड महामारी से लड़ रहे भारतीय नागरिकों एवं सरकार के साथ खड़े हैं.

जर्मनी ने कहा, हम कोविड महामारी से लड़ रहे भारतीय नागरिकों एवं सरकार के साथ खड़े हैं.

India and Germany Relations: एक संदेश में मर्केल ने कहा कि महामारी की इस लड़ाई में जर्मनी पूरी एकजुटता से भारत के साथ खड़ा है. मर्केल के इस संदेश को भारत में जमर्नी के राजदूत वॉल्टर जे लिंडनेर ने ट्विटर पर साझा किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 5:10 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने रविवार को कहा कि उनकी सरकार भारत के लिए तत्काल ''सहायता मिशन'' की तैयारी कर ही है. कोविड महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच कई राज्यों में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है.

एक संदेश में मर्केल ने कहा कि महामारी की इस लड़ाई में जर्मनी पूरी एकजुटता से भारत के साथ खड़ा है. मर्केल के इस संदेश को भारत में जमर्नी के राजदूत वॉल्टर जे लिंडनेर ने ट्विटर पर साझा किया. संदेश में जर्मनी की चांसलर ने कहा, '' हमारे समुदायों के लिए एक बार फिर कोविड-19 ने जो परेशानी उत्पन्न की है, उसमें मैं भारत के लोगों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करना चाहती हूं. जर्मनी पूरी एकजुटता से भारत के साथ खड़ा है.''

अफगानिस्तान बोला- भारत के साथ खड़े  हैं

इस बीच, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भी भारत के साथ एकजुटता प्रदर्शित की. गनी ने ट्वीट किया, '' हम कोविड महामारी से लड़ रहे भारतीय नागरिकों एवं सरकार के साथ खड़े हैं. अफगान सरकार एवं नागरिकों की तरफ से हम इस महामारी में जान गंवाने वालों के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं. साथ ही संक्रमित लोगों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं.''
ये भी पढ़ेंः- 11 से 15 मई के बीच चरम पर होगी कोरोना की दूसरी लहर, देश में होंगे 35 लाख एक्टिव केस, IIT वैज्ञानिकों का अनुमान



जर्मनी से भारत आ रहे 23 मोबाइल ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट



इससे पहले रक्षा मंत्रालय ने जर्मनी से 23 मोबाइल ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट (Mobile Oxygen Generation Plant) हवाई जहाज के जरिए मंगाने का फैसला किया है. रक्षा मंत्रालय के मुख्य प्रवक्ता ए भारत भूषण बाबू (A. Bharat Bhushan Babu) ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक मोबाइल प्लांट की क्षमता 40 लीटर ऑक्सीजन प्रति मिनट और 2400 लीटर ऑक्सीजन प्रति घंटा उत्पादन करने की है. इन प्लांट की स्थापना कोविड-19 के मरीजों का इलाज करने वाले आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विस (AFMS) के अस्पतालों में की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज