UN: सीनियर के यौन प्रताड़ना पर किया कम्प्लेन, लड़की को ही किया बर्खास्त

UN: सीनियर के यौन प्रताड़ना पर किया कम्प्लेन, लड़की को ही किया बर्खास्त
यौन प्रताड़ना की शिकायत पर बर्खास्त हुई लड़की. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एड्स (Aids) से संबंधित यूनाटेड नेशन्स एजेंसी (United Nations Agency) ने एक नीति सलाहकार को उसके व्यवहार के चलते उसे बर्खास्त कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 8:59 PM IST
  • Share this:
स्टॉकहोम. एड्स (Aids) से संबंधित यूनाटेड नेशन्स एजेंसी (United Nations Agency) ने एक नीति सलाहकार को उसके व्यवहार के चलते उसे बर्खास्त कर दिया. लड़की के अपील से जुड़े दस्तावेजों से पता चलता है कि उसे वरिष्ठ सहयोगी द्वारा यौन उत्पीड़न (Sexual Assualt) की रिपोर्ट करने पर बर्खास्त किया गया था. स्वीडन की मार्टिना ब्रॉस्ट्रॉम को दिसंबर में यौन और वित्तीय कदाचार के लिए संगठन से निकाल दिया गया था. मार्टिना ने अप्रैल में एक अपील वैश्विक अपील बोर्ड विश्व स्वास्थ्य संगठन (Global Board of Appeal of the World Health Organization) को भेजी थी. यह संगठन यूएन एड्स की देखरेख करता है.

'पीड़िता को ही दी जाती है दंड'

डब्ल्यूएचओ ने इस अपील को अभी तक सार्वजनिक नहीं किया है लेकिन रायटर ने इसकी समीक्षा की है. मार्टिना ने एक साक्षात्कार में कहा कि यह एक विडंबना है कि एक स्त्री जो यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज करती है उसे ही यौन उत्पीड़न का दोषी बना दिया जाता है.



ये है मामला
मार्टिना ने तत्कालीन यूएन एड्स के उप कार्यकारी निदेशक लुइज लूर्स पर 2015 में थाईलैंड के एक होटल की लिफ्ट में उसे जबरन पकड़ लेने और बाद में उसे अपने कमरे की ओर खींचने की कोशिश करने का आरोप लगाया था. लुइज लूर्स ने मार्टिना के इन आरोपों को सिरे से नकार दिया. मार्टिना की यह शिकायत 2018 में सार्वजनिक हुई थी. मार्टिना ब्रॉस्ट्रॉम ने रॉयटर्स को बताया कि एक शुरूआती यूएन जांच में उनके लगाए आरोपों को सही नहीं माना गया लेकिन अभी भी उस मामले की जांच एक अन्य बड़े मामले के हिस्से के रूप में जारी है.

आरोपी पर पहले भी एक महिला सहकर्मी ने लगाया था आरोप

27 अप्रैल 2018 को ब्रॉस्ट्रॉम को मिले यूएनएड्स के एक पत्र के अनुसार यूएन के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने लुइज लूर्स पर लगे एक अन्य यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच शुरू की. लुइज लूर्स ने इस मामले में भी आरोपों को मानने से मना कर दिया.

महासचिव के प्रवक्ता ने ब्यौरा देने से किया इनकार

यूएन के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने गोपनीयता का हवाला देते हुए जांच का कोई भी विवरण देने से इनकार कर दिया. ब्रॉस्ट्रॉम की अपील में यह कहा गया है कि उनकी बर्खास्तगी एक अनाम ईमेल में निहित आरोपों के आधार पर शुरू हुई जांच के बाद हुई. यह जांच उस समय एजेंसी के नंबर दो पद पर रहे लुइज लूर्स के द्वारा शुरू की गई थी. यूएनएड्स की प्रवक्ता सोफी बार्टन-नॉट ने गोपनीयता का हवाला देते हुए मामले की बारीकियों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

ये भी पढ़ें: भारतीय-अमेरिकियों को क्यों लगता है कि बाइडेन के लिए बेहतर सहयोगी होंगी कमला?

स्पेन के पूर्व राजा जुआन कार्लोस कहां है? दो देशों में उनपर चल रही है जांच

1990 के बाद से संयुक्त राष्ट्र की प्रतिष्ठा यौन उत्पीड़न के हाई -प्रोफ़ाइल आरोपों के कारण क्षतिग्रस्त हो गई है. 2017 में पदभार ग्रहण करने के बाद से संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुटेरेस ने भी यौन उत्पीड़न के मुद्दे पर ज़ीरो टॉलरेंस की निति अपनाने की बात कही थी लेकिन 2018 में यूएन में लगभग 10,000 कर्मचारियों और ठेकेदारों ने कहा कि पिछले दो वर्षों में उनका यौन उत्पीड़न हुआ है. आंकड़ों से पता चलता है कि 2016 से 2018 तक यौन उत्पीड़न की 446 औपचारिक रिपोर्टें बनाई गईं थी जिनमें मात्र पैंतालीस में अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई. लुइज लूर्स ने मार्टिना द्वारा लगाए गए आरोपों को नकार दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज