मोदी की नोटबंदी को गलत बताने वाली गीता गोपीनाथ को अब मिला बड़ा पद

चीफ इकॉनमिस्‍ट नियुक्‍त होने के साथ ही गीता उन चार महिलाओं के समूह में शामिल हो गई हैं, जिनका वैश्विक आर्थिक क्षेत्र में विशिष्ट महत्व है.

News18Hindi
Updated: January 9, 2019, 10:38 AM IST
मोदी की नोटबंदी को गलत बताने वाली गीता गोपीनाथ को अब मिला बड़ा पद
अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ को चीफ इकॉनमिस्ट नियुक्त किया गया.
News18Hindi
Updated: January 9, 2019, 10:38 AM IST
अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने भारत में जन्मीं अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ को चीफ इकॉनमिस्ट नियुक्त किया है. गीता गोपीनाथ उन अर्थशास्‍त्रियों में शामिल रही हैं, जिन्‍होंने भारत सरकार द्वारा साल 2016 में नोटबंदी जैसे एतिहासिक कदम को भारतीय अर्थव्‍यस्‍था के लिए खतरा बताया था. चीफ इकॉनमिस्‍ट नियुक्‍त होने के साथ ही गीता उन चार महिलाओं के समूह में शामिल हो गई हैं, जिनका वैश्विक आर्थिक क्षेत्र में विशिष्ट महत्व है.

गीता गोपीनाथ के अलावा वैश्‍विक आर्थिक क्षेत्र में आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड, विश्व बैंक की मुख्य अर्थशास्त्री पेनालोपी कौजियानो गोल्डबर्ग और विश्व बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी क्रिस्टालिना जॉर्जीवा शामिल हैं. इन महिलाओं को अपने पद पर रहते हुए विभिन्न देशों द्वारा वैश्वीकरण से पीछे हटने की चुनौतियों से निपटना होगा. इसमें चीन और अमेरिका के बीच का व्यापार युद्ध, ब्रेक्सिट पर यूरोप में अनिश्चितता, डॉलर के मुकाबले कई मुद्राओं के कमजोर पड़ने और देशों के भीतर और देशों के बीच बढ़ती असमानता जैसे मुद्दे शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :- भारत में जन्मीं गीता कैसे बनीं IMF की चीफ इकॉनमिस्ट, पढ़ें उनकी पूरी कहानी

कौन है गीता गोनीनाथ ?

गोपीनाथ ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स और यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन से एमए की डिग्री हासिल की. उसके बाद उन्होंने अर्थशास्त्र में पीएचडी की डिग्री प्रिंसटन विश्विद्यालय से 2001 में प्राप्त की. इसके बाद उसी साल उन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर काम शुरू कर दिया. वर्ष 2005 से वह हार्वर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ा रही हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर