Coronavirus Update: सिर्फ 39 दिन में 2 से 3 करोड़ हुए कोरोना संक्रमित, UN चिंतित

Coronavirus Update: सिर्फ 39 दिन में 2 से 3 करोड़ हुए कोरोना संक्रमित, UN चिंतित
3 करोड़ हुए कोरोना संक्रमित

Coronavirus Update: दुनिया भर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ से भी ज्यादा हो गयी है. चौंकाने वाली बाते ये है कि 2 से 3 करोड़ केसों का आंकड़ा सिर्फ 39 दिन में पूरा हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2020, 12:22 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. दुनिया भर में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. बुधवार को कोरोना (Covid-19) के आंकड़ों ने एक और रिकॉर्ड कायम किया और दुनिया भर में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर अब 3 करोड़ से ज्यादा हो गयी है. हालांकि ठीक होने वालों की संख्या भी अब 2 करोड़ 17 लाख से ज्यादा हो चुकी है. जबकि कोरोना महामारी में मरने वालों की संख्या 9 लाख 44 हजार से ज्यादा हो गई है.

गौर करने वाली बात ये है कि 2 से 3 करोड़ केसों का आंकड़ा सिर्फ 39 दिन में पूरा हो गया. यानी संक्रमण की रफ्तार अब सबसे ज्यादा है. करीब 100 साल पहले फ्लू से 50 करोड़ संक्रमित हुए थे. अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, 1918-19 में इंफ्लूएंजा से दुनिया में 50 करोड़ लोग संक्रमित हुए थे. उस वक्त दुनिया की एक तिहाई आबादी संक्रमित हो गई थी. हालांकि अभी कोरोना को इतना फैलने में काफी देर है लेकिन WHO से जुड़े वैज्ञानिकों का मानना है कि कोरोना संक्रमण फिलहाल अपने शुरूआती दौर में है.

यूएन चीफ ने कहा- स्थिति गंभीर
इस बीच यूएन के सेक्रेट्री जनरल एंटोनियो गुटरेस ने कहा है कि दुनिया भर में कोरोना की स्थिति गंभीर है. गुटरेस ने कहा- अगर कोविड-19 का मुकाबला करना है तो विश्व के सभी देशों को साथ आना होगा. मिलकर इस महामारी का मुकाबला करना होगा. यूएन चीफ ने कहा- अगर इस वक्त दुनिया के लिए सबसे बड़ा कोई खतरा है तो यह कोरोना वायरस या महामारी है. इससे निपटने के लिए दुनिया को एक साथ और एक मंच पर आना होगा. ऐसा किए बिना हम महामारी का मुकाबला नहीं कर सकेंगे.
इससे पहले संयुक्त राष्ट्र महासभा के नए अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने बहुपक्षवाद को दुनिया की सभी समस्याओं का सर्वश्रेष्ठ समाधान बताया और कहा कि वैश्विक स्तर पर सामाजिक दूरी बनाने से कोई मदद नहीं मिलने वाली क्योंकि कोई भी देश कोविड-19 से अकेले नहीं लड़ सकता है. सत्र के दौरान संयुक्त राष्ट्र के राजदूतों एवं प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए बोजकिर ने कहा कि इस साल की शुरुआत से, जब से यह संकट शुरू हुआ है, बहुपक्षवाद के आलोचक और मुखर हो गए हैं.



सरकार कोरोना के बहाने कर रही गलत फैसले
बोजकिर ने कहा, 'महामारी के बहाने एकतरफा कदमों को सही ठहाराया जा रहा है और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय प्रणाली को कमजोर किया जा रहा है. अंतरराष्ट्रीय संगठनों को धिक्कारा गया और अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत पर सवालिया निशान लगाए गए.' मंगलवार से शुरू हुए महासभा के 75वें सत्र में उन्होंने कहा, 'बीते छह महीने में, संयुक्त राष्ट्र के 75वें वर्ष के लिए हमारी जो योजनाएं थीं वे बदल गईं. आज, हमारे सामने कुछ अन्य तात्कालिक प्राथमिकताएं हैं. हमारे मास्क हमें उस बहुत बड़े खतरे की याद दिलाते हैं जिसका सामना हम कर रहे हैं...वे याद दिलाते हैं कि हम सब इस खतरे का सामना कर रहे हैं.'



महामारी से निपटने के लिए बहुपक्षवाद को मजबूत करने का स्पष्ट संदेश देते हुए बोजकिर ने कहा कि, 'कोई गलती न करें: कोई भी राष्ट्र इस महामारी से अकेले नहीं निपट सकता है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक दूरी रखना फायदेमंद नहीं होगा. एकतरफा कोशिशों से कोविड-19 महामारी और मजबूती से पैर जमाएगी.' उन्होंने कहा, 'यह हमें हमारे साझा लक्ष्यों से और दूर ले जाएगा. यह सदस्य राष्ट्रों की जिम्मेदारी है कि वे बहुपक्षीय सहयोग और अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में लोगों का भरोसा मजबूत करें, जिनके केंद्र में संयुक्त राष्ट्र हो.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading