लाइव टीवी
Elec-widget

वैश्विक तापमान बढ़ने से जलवायु पर ज्यादा विनाशकारी असर होगा: संरा रिपोर्ट

भाषा
Updated: November 27, 2019, 2:33 PM IST
वैश्विक तापमान बढ़ने से जलवायु पर ज्यादा विनाशकारी असर होगा: संरा रिपोर्ट
संयुक्त राष्ट्र ने जारी की रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र (United Nation) की एक रिपोर्ट में कहा गया कि 1.5 डिग्री सेल्सियस लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी देशों को पांच गुना से अधिक योगदान (एनडीसी) करना चाहिए.

  • Share this:
जेनेवा. पेरिस जलवायु समझौते (Paris Climate Agreement) के तहत यदि बिना शर्त वाले सभी कमिटमेंट को पूरा कर लिया जाता है तो भी इस सदी के अंत तक वैश्विक तापमान में करीब 3.2 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने का अनुमान है. संयुक्त राष्ट्र (United Nation) की एक नयी रिपोर्ट में मंगलवार को यह चेतावनी दी गई. इसमें यह भी कहा गया है कि इस तरह की स्थिति से जलवायु पर ज्यादा विनाशकारी असर देखने को मिलेगा.

सभी देशों को अपना योगदान बढ़ाना जरूरी
संयुक्त राष्ट्र जलवायु कार्यक्रम के वार्षिक उत्सर्जन अंतराल रिपोर्ट के मुताबिक सभी देशों को अपने योगदान कम से कम तीन गुना बढ़ाना चाहिए ताकि दो डिग्री सेल्सियस से नीचे के लक्ष्य को हासिल किया जा सके. साथ ही, 1.5 डिग्री सेल्सियस लक्ष्य को हासिल करने के लिए पांच गुना से अधिक योगदान (एनडीसी) करना चाहिए.

UN रिपोर्ट ने दी ये चेतावनी

रिपोर्ट में चेतावनी दी गई कि पेरिस समझौते के अंतर्गत अगर सभी बिना शर्त वाली प्रतिबद्धताओं को पूरा कर लिया जाता है तो इस सदी के अंत तक तापमान में 3.2 डिग्री बढ़ोतरी होने का अनुमान है. इसमें कहा गया है कि अगर सशर्त एनडीसी को भी प्रभावी तरीके से लागू किया जाए तो तापमान में करीब 0.2 डिग्री सेल्सियस की कमी की संभावना है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक स्तर पर ग्रीन हाउस गैस में 7.6 फीसदी की कमी की जानी चाहिए, ताकि पेरिस समझौते के मुताबिक वैश्विक तापमान में 1.5 डिग्री सेल्सियस तापमान वृद्धि रखने के लक्ष्य को पूरा किया जा सके.

रिपोर्ट में कहा गया है कि जब तक वैश्विक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 2020 और 2030 के बीच प्रति वर्ष 7.6 फीसदी की कमी नहीं होती है तब तक पेरिस समझौते के तहत डेढ़ डिग्री सेल्सियस तापमान के लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें : बलूचिस्तान: खाई में गिरी बस, 9 पाकिस्तानी फौजियों की मौत, 29 घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 2:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...