अपना शहर चुनें

States

अमेरिकाः डोनाल्ड ट्रंप पर ग्रेटा थनबर्ग का तंज, कहा- ए वेरी हैप्पी ओल्ड मैन

टाइम मैगजीन ने ग्रेटा थनबर्ग को 2019 में पर्सन ऑफ द ईयर घोषित किया था, जिसके बाद ट्रंप ने टाइम की आलोचना की थी. फाइल फोटो
टाइम मैगजीन ने ग्रेटा थनबर्ग को 2019 में पर्सन ऑफ द ईयर घोषित किया था, जिसके बाद ट्रंप ने टाइम की आलोचना की थी. फाइल फोटो

Greta Thunberg on Donald Trump: वॉशिंगटन में 6 जनवरी को हिंसा भड़काने और चुनावों में धांधली के आरोपों पर कोई माफी ना मांगने वाले डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को बतौर राष्ट्रपति व्हाइट हाउस छोड़ दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की अदावत किसी से छिपी नहीं है. दोनों एक दूसरे पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं और बुधवार को भी ऐसा ही हुआ. डोनाल्ड ट्रंप के आखिरी बार व्हाइट हाउस छोड़ने पर ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट कर उन पर निशाना साधा और कहा कि "वह एक चमकदार और शानदार भविष्य को लेकर बहुत खुश बूढ़े व्यक्ति की तरह दिखाई दे रहा है. उसे देखना अच्छा है."

18 वर्षीय ग्रेटा थनबर्ग और 74 वर्षीय डोनाल्ड ट्रंप के बीच पिछले साल ट्विटर पर तीखी नोंक झोंक देखने को मिली थी. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन (Joe Biden) के मुकाबले ट्रंप की हार के अनुमानों को लेकर ट्वीटर पर खासा हंगामा हुआ था. राष्ट्रपति चुनाव में मतगणना रोकने की ट्रंप की मांग पर ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट कर कहा था, "बहुत ही हास्यास्पद. डोनाल्ड ट्रंप अनिवार्य रूप से अपने गुस्से पर काबू पाने का उपाय करें. फिर अपने दोस्तों के साथ एक पुरानी फिल्म देखने जाएं! शांत डोनाल्ड शांत!"





दरअसल ट्रंप ने चुनाव की मतगणना को रोकने की मांग करते हुए ट्वीट किया था, "स्टॉप द काउंट". इसी के जवाब में ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट किया. ग्रेटा का ट्वीट बिल्कुल उसी तर्ज पर था, जिस तर्ज पर ट्रंप ने दिसंबर 2019 में उन्हें लेकर ट्वीट किया था. दरअसल टाइम मैगजीन ने ग्रेटा थनबर्ग को 2019 में पर्सन ऑफ द ईयर घोषित किया था, जिसके बाद ट्रंप ने टाइम की आलोचना करते हुए कहा था कि "बहुत ही हास्यास्पद, ग्रेटा को अपने गुस्से पर काबू पाने के लिए काम करना चाहिए और फिर दोस्तों के साथ एक पुराने अंदाज की फिल्म देखने जाना चाहिए. शांत ग्रेटा शांत."
वॉशिंगटन में 6 जनवरी को हिंसा भड़काने और चुनावों में धांधली के आरोपों पर कोई माफी ना मांगने वाले डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को बतौर राष्ट्रपति व्हाइट हाउस छोड़ दिया. ट्रंप, जो बाइडन के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भी शामिल नहीं होंगे और बरसों से चली आ रही अमेरिकी इतिहास की एक परंपरा को उन्होंने तोड़ दिया है.

बतौर राष्ट्रपति ट्रंप का कार्यकाल अमेरिकी इतिहास का सबसे उथल पुथल दौर रहा है, इसके उलट जो बाइडन ने अमेरिका को कोरोना वायरस से मुक्ति दिलाने के लिए नई तरीकों और नई सोच अपनाने की बात कही है.

ट्रंप के राष्ट्रपति पद से हटने और कार्यकाल समाप्ति के बाद राहत महसूस कर रहे सोशल मीडिया पर बुधवार को #ByeDon ट्रेंड में रहा, हजारों लोगों ने ट्वीट और मीम्स शेयर कर अपनी प्रतिक्रिया दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज