इथियोपिया में बंदूकधारियों ने 32 लोगों की हत्या की, 20 से ज्यादा घर जला डाले

इथियोपिया में बंदूकधारियों ने 32 लोगों की हत्या कर दी और 20 से ज्यादा घर जला डाले. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
इथियोपिया में बंदूकधारियों ने 32 लोगों की हत्या कर दी और 20 से ज्यादा घर जला डाले. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Mass murder in Ethiopia: पश्चिमी इथियोपिया में बंदूकधारियों ने 32 लोगों (Murdered Thirty Two People) की हत्या कर दी और 20 से ज्यादा घरों में आग लगा (Twenty House Burnt) दी है. सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए इस क्षेत्र से लगभग 700 से 750 लोगों को विस्थापित किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 9:34 PM IST
  • Share this:
अदीस अबाबा. पश्चिमी इथियोपिया में बंदूकधारियों ने 32 लोगों (Murdered Thirty Two People) की हत्या (Mass murder in Ethiopia) कर दी और 20 से ज्यादा घरों में आग लगा (Twenty House Burnt) दी है. क्षेत्रीय प्रशासक इलियास उमेटा ने सोमवार को बताया कि ये हत्याएं ओरोमिया क्षेत्र के पश्चिमी वोलेगा जोन में ओएलएफ शेन नामक समूह के सशस्त्र हमलावरों द्वारा की गईं है. उन्होंने बताया कि इस नृशंस हमले में मारे गए 32 लोगों को दफना दिया गया है. इसके साथ ही सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए इस क्षेत्र से लगभग 700 से 750 लोगों को विस्थापित किया गया है. ओएलएफ शेन ओरोमो लिबरेशन फ्रंट (ओएलएफ) से अलग हो गया है.

वर्ष 2018 के बाद से हो रही है लगातार हिंसक घटनाएं

समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक ओएलएफ शेन ओरोमो लिबरेशन फ्रंट से अलग हुआ एक संगठन है. ओरोमो लिबरेशन फ्रंट एक विपक्षी पार्टी है, जो वर्षों निर्वासन में रही है लेकिन साल 2018 में प्रधानमंत्री अबी अहमद के सत्ता संभालने के बाद इसे इथियोपिया में वापसी की अनुमति दी गई थी. इसके बाद से छिटपुट हिंसा ने इथियोपिया को हिलाकर रख दिया है. इसके उलट ओएलएफ शेन का कहना है कि यह इथियोपिया के सबसे बड़े जातीय समूह ओरोमोस के अधिकार के लिए लड़ रहा है. क्षेत्रीय प्रशासक इलियास उमेटा ने कहा कि अभी तक हत्याओं का मकसद पता नहीं चल पाया है लेकिन ओएलएफ शेन नामक इस सशस्त्र समूह ने लोगों से एक मीटिंग करने की बात कही थी और उसी दौरान उनकी हत्या कर दी गई.



इथियोपिया के मानवाधिकार आयोग ने दिया ये बयान
इथियोपियाई मानवाधिकार आयोग ने कहा कि इस हमले में जातीय अम्हारिक समूह के लोगों को निशाना बनाया गया है. आयोग के मुख्य आयुक्त डैनियल बेकेले ने एक बयान में कहा कि अम्हारिक समूह के लोगों को उनके घरों से घसीटकर एक स्कूल में ले जाया गया जहां उन्हें मार दिया गया. नागरिकों की हत्याएं मानवता का उपहास उड़ा रही हैं.



ये भी पढ़ें: US ELECTION 2020: अमेरिका में मतदान शुरू, हैम्पशायर में ओटन ने डाला पहला वोट 

डोनाल्ड ट्रंप ने शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ फौसी को बर्खास्त करने का संकेत दिया

पिछले सप्ताह इथियोपिया के दो राज्यों सोमाली और अफार के बीच लम्बे समय से चल रहे सीमाओं के विवाद के कारण संघर्ष हुआ जिसमें 27 लोग मारे गए थे. दोनों पूर्वी राज्यों की सहायक सेनाओं के बीच पहले भी अपने सीमा विवाद के कारण टकराहटें होती रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज