जमात-उद-दावा पर बैन के बाद हाफिज सईद दूसरे संगठनों के दम पर फैला रहा है आतंकवाद

हाफिज सईद (फ़ाइल)

हाफिज सईद (फ़ाइल)

पिछले दिनों हाफिज सईद (Hafiz Saeed) के संगठन जमात-उद-दावा (jamaat ul dawa) को पाकिस्तान में बैन कर दिया था.

  • Share this:
मुंबई आतंकी हमले (Mumbai Terrorist Attack) का मास्टरमाइंड हाफिज सईद (Hafiz Saeed) अब नए सिरे से आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में है. पिछले दिनों हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा (jamaat ul dawa) को पाकिस्तान में बैन कर दिया था. ऐसे में अब वो दूसरे संगठनों से हाथ मिला रहा है. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक हाफिज सईद दूसरे आतंकी संगठनों को मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए पैसा पहुंचा रहा है.



सईद को इसी साल जुलाई में गिरफ्तार किया गया था. उस पर टेरर फंडिंग का मामला चलाया जा रहा है. आतंकवाद के लिए पैसा जुटाने के आरोपों पर दो सितंबर को सुनवाई शुरू होगी. साल 2009 में दर्ज टेरर फंडिंग के एक मामले में पाक स्थित पंजाब पुलिस के आतंकवाद विरोधी विभाग ने उसे लाहौर से गिरफ्तार किया था.



मुश्किल में पाकिस्तान

पिछले दिनों फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की बैठक में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में शामिल रखने का फैसला हुआ. साथ ही, ये भी कहा गया है कि अगर पाकिस्तान ने सितंबर तक ठोस कदम नहीं उठाए तो उसे ब्लैकलिस्ट किया जा सकता है. ग्रे लिस्ट में शामिल होने से पाकिस्तान को 10 अरब डॉलर का नुकसान पहले ही हो चुका है.
खतरनाक आतंकी है हाफिज



हाफिज सईद आतंकी लश्कर-ए-तैय्यबा आतंकवादी संगठन का संस्थापक रहा है. बाद में ये आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा से जुड़ गया. मुंबई के 26/11 हमले की साजिश में मुख्य तौर पर इसका हाथ था. भारत लगातार पाकिस्तान से उसे सौंपने की मांग करता रहा है. लश्कर-ए-तैयबा कश्मीर में भारत के खिलाफ जिहादी ऑपरेशन के लिए जाना जाता है. हाफिज सईद इस संगठन को पाकिस्तान में लाहौर के पास मुरीदके शहर से संचालित करता है.



ये भी पढ़ें:



कल पंजाब बंद का ऐलान, CM कैप्टन ने की PM मोदी से दखल की अपील



रिलायंस इंडस्ट्री की 42वीं AGM की 5 बड़ी बातें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज