अपना शहर चुनें

States

पृथ्वी पर लौट रहा हायाबुसा 2 अंतरिक्ष यान, क्षुद्रग्रह के ला रहा है नमूने: जापान

पृथ्वी की ओर लौट रहा है हायाबुसा 2. (तस्वीर  @NASAEarth)
पृथ्वी की ओर लौट रहा है हायाबुसा 2. (तस्वीर @NASAEarth)

Landing Hayabusa 2 on Earth Planet: जापान की अंतरिक्ष एजेंसी (Japan Space Agency) ने कहा कि उसकी अंतिम जांच में इस बात की पुष्टि हो गई है कि हायाबुसा 2 (Hayabusa-2) नाम का अंतरिक्ष यान पृथ्वी पर लौटने के लिए अपने ट्रैक पर चल चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 5:19 PM IST
  • Share this:
टोक्यो. जापान की अंतरिक्ष एजेंसी (Japan Space Agency) ने कहा कि उसकी अंतिम जांच में इस बात की पुष्टि हो गई है कि हायाबुसा 2 (Hayabusa-2) नाम का अंतरिक्ष यान पृथ्वी पर लौटने के लिए अपने ट्रैक पर चल चुका है. बताया जा रहा है कि पृथ्वी पर लौटते हुए यह अंतरिक्ष यान अपने साथ क्षुद्रग्रह ड्यूगु (Ryugu) के नमूने ला रहा है. इन नमूनों से सौर मंडल की उत्पत्ति और पृत्वी पर जीवन संबंधी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हो सकती हैं. क्षुद्रग्रह सूर्य की परिक्रमा करते हैं लेकिन ग्रहों की तुलना में आकार में ये छोटे हैं और सौर मंडल की सबसे पुरानी वस्तुओं में से हैं इसलिए पृथ्वी के विकास को समझने में ये बहुत सहायता कर सकते हैं. जापानी में ड्यूगु का अर्थ है "ड्रैगन पैलेस जोकि एक जापानी लोक कथा में समुद्र तल के महल का नाम है.

नियोजित प्रक्षेप पथ के निकट पहुँच रहा है हायाबुसा 2

हायाबुसा 2 नाम का यह अंतरिक्ष यान अपने नियोजित प्रक्षेप पथ के निकट पहुँच रहा है और शनिवार दोपहर को 220,000 किलोमीटर (136,700 मील) की दूरी से कैप्सूल को अलग करने का तय किया गया है. इस कार्य में सटीक नियंत्रण की आवश्यकता होती है. इस कैप्सूल को रविवार को ऑस्ट्रेलिया के एक दूरस्थ और बहुत कम आबादी वाले क्षेत्र वूमेरा में उतरने के लिए प्रोग्राम किया गया है.



'हमने खुद को प्रशिक्षित किया और अब हम पूरी तरह से तैयार हैं'
जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी ने बताया कि हायाबुसा 2 ने क्षुद्रग्रह ड्यूगु  को एक साल लगभग 300 मिलियन किलोमीटर (180 मिलियन मील) दूर छोड़ दिया था और योजना अनुसार बिना किसी समस्या के उड़ रहा था. जैक्स ( JAXA ) में हायाबुसा के प्रोजेक्ट मैनेजर Yuichi Tsuda ने शुक्रवार को कहा कि हमने खुद को प्रशिक्षित किया और अब हम पूरी तरह से तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हम प्रार्थना कर रहे हैं कि जिन उपकरणों का अभी तक इस्तेमाल नहीं किया गया है आगे ठीक काम करेंगे और ऑस्ट्रेलिया का मौसम अच्छा बना रहेगा. उन्होंने यह भी है कि हम बहुत उत्साहित हैं.

ये भी पढ़ेंः नामिबिया में हाथियों की आबादी बढ़ी, चारा के अभाव में सरकार ने बेचने का लिया फैसला

कई हायाबुसा 2 प्रशंसक टोक्यो डोम स्टेडियम में देश भर से कैप्सूल अलग होने की घटना देखने के लिए एकत्र हुए.रविवार की सुबह एक हीट शील्ड द्वारा संरक्षित कैप्सूल जैसे ही पृथ्वी से 120 किलोमीटर (75 मील) ऊपर वायुमंडल में दुबारा प्रवेश करेगा एक आग के गोले में बदल जायेगा. जमीन से लगभग 10 किलोमीटर (6 मील) ऊपर इस कैप्सूल की नीचे गिरने की गति को कम करे के लिए एक पैराशूट खुलेगा और इसक इसकी लोकेशन बताने के लिए बीकन सिग्नल ट्रांसमिट किये जायेंगे.

कृषि बिल को लेकर 36 ब्रिटिश सांसदों ने UN सचिव को खत लिखा, कहा- भारत पर दबाव बनाएं

यह हायाबुसा 2 के लिए 2014 में शुरू किए गए मिशन का अंत नहीं है. कैप्सूल को छोड़ने के बाद, यह अंतरिक्ष यान वापस अंतरिक्ष में 1998KY26 नामक छोटे क्षुद्रग्रह की ओर जाएगा इस बार इस यात्रा में 10 साल का समय लगेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज