इस देश के स्वास्थ्य मंत्री पर मास्क खरीदने में घोटाले का आरोप, गिरफ्तार

इस देश के स्वास्थ्य मंत्री पर मास्क खरीदने में घोटाले का आरोप, गिरफ्तार
(प्रतीकात्मक फोटो)

जिम्बाबवे के स्वास्थ्य मंत्री पर कोविड-19 (Covid-19) से जुड़े उपकरणों की खरीद का ठेका एक गलत कंपनी (Deal With Wrong Company) को देने का आरोप लगा है. इस आरोप में शुक्रवार को उन्हें गिरफ्तार (Health Minister Arrested) कर लिया गया है.

  • Share this:
हरारे. जिम्बाबवे के स्वास्थ्य मंत्री पर कोविड-19 (Covid-19) से जुड़े उपकरणों की खरीद का ठेका एक गलत कंपनी (Deal With Wrong Company) को देने का आरोप लगा है. इस आरोप में शुक्रवार को उन्हें गिरफ्तार (Health Minister Arrested) कर लिया गया है. उन्हें आज अदालत में पेश किया जाना था. देश की भ्रष्टाचार निरोधी एजेंसी ने ओबादिया मोयो को शुक्रवार को इस घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार कर लिया है.

कुछ स्थानीय पत्रकारों ने यह खुलासा किया कि मोयो ने कथित रूप से एक कंपनी को बहुत ज्यादा मूल्य पर सरकार को मेडिकल उपकरणों की आपूर्ति करने का ठेका दे दिया. उनके अनुसार, कंपनी एक मास्क 28 अमेरिकी डॉलर में सरकार को बेच रही थी. इस बात को लेकर देश में काफी हंगामा हो रहा है और सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा साफ दिख रहा है. लोगों के गुस्से को देखते हुए सरकार ने उक्त कंपनी को दिया गया ठेका रद्द कर दिया है.

ये भी पढ़ें: चीन ने बांग्लादेश को अपने पक्ष में करने के लिए 5161 उत्पादों से 97% टैरिफ हटाया



प्रोटेस्ट के दौरान पुलिस की कार जलाने के लिए महिला को होगी 80 साल की सजा!
कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिए पाकिस्तान ले रहा 150 करोड़ डॉलर कर्ज

युवती ने पिता का प्राइवेट पार्ट चाकू से काट डाला, 19 साल से कर रहा था उत्पीड़न

यहां तक कि राष्ट्रपति इमरसन माननगागवा के बेटों में से एक को यह बयान जारी करना पड़ा है कि उनका इस कंपनी से कोई लेना देना नहीं है. कई ऐसी तस्वीरें सामने आयी हैं जिनमें कंपनी के जिम्बाबवे में प्रतिनिधि राष्ट्रपति, उनकी पत्नी और बेटों के साथ अलग-अलग मौकों पर नजर आ रहे हैं. प्रतिनिधि डेलिश न्गुवाया और राष्ट्रीय औषधि खरीद एजेंसी के कुछ शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ इस घोटाले को लेकर पहले से ही आपराधिक मामले दर्ज हैं.

कंपनी के बारे में दी झूठी जानकारी

आरोप पत्र के मुताबिक, न्गुवाया पर आरोप है कि उन्होंने झूठ बोला है कि वह कंपनी स्विटजरलैंड की है और दवाएं बनाती है जबकि यह सिर्फ सलाह देने वाली फर्म है और उसका दवाएं या अन्य चिकित्सा वस्तुओं के निर्माण का कोई अनुभव नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading