सीरिया: बम धमाके में ढहा घर, 5 साल की लड़की ने जान देकर बचाई सात माह की बहन की जान

सीरिया: 5 साल की बच्ची ने जान देकर बचाई सात माह की बहन की जान
सीरिया: 5 साल की बच्ची ने जान देकर बचाई सात माह की बहन की जान

यह तस्वीर बुधवार को स्थानीय समाचार वेबसाइट SY24 में काम करने वाले फोटोग्राफर बशर अल-शेख ने ली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 27, 2019, 11:50 AM IST
  • Share this:
साल 2015 में तुर्की के तट पर मृत मिले सीरिया के तीन साल के बच्चे आयलान कुर्दी की तस्वीर ने दुनियाभर के लोगों को विचलित कर दिया था. अब ऐसी ही एक और तस्वीर सीरिया के इदलिब से आई है. इस तस्वीर में हवाई हमले में तबाह हुई एक इमारत में पांच साल की एक बच्ची मलबे में दबी हुई दिख रही है और उसने अपनी सात महीने की बहन को पकड़ रखा है. इस फोटो को देखने से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिस वक्त ये हमले किए जा रहे थे, उस वक्त भी मासूम ने अपनी छोटी बहन का हाथ थामा हुआ था. तस्वीर इसलिए और भी ज्यादा विचलित करती है क्योंकि इमारत के ऊपर से उनका पिता सिर पर हाथ रखे इस भयानक मंजर को देखते हुए रो रहा है और लोगों से मदद की गुहार लगा रहा है. बताया जाता है कि दोनों बच्चियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के दौरान बड़ी बहन की मौत हो गई, जबकि छोटी बच्ची अभी भी जिंदगी और मौत से जूझ रही है.

यह तस्वीर बुधवार को स्थानीय समाचार वेबसाइट SY24 में काम करने वाले फोटोग्राफर बशर अल-शेख ने ली है. बताया जाता है कि सीरिया के उत्तर-पश्चिमी प्रांत इदलीब में इन दिनों सीरियाई सरकार और उसके रूसी सहयोगी बम से हमले कर रहे हैं. इसी हमले में कुछ दिन पहले एक इमारत ध्वस्त हो गई. जिस समय ये हमला हुआ उस वक्त इमारत के अंदर पांच साल की रिहम अल-अब्दुल्लाह अपनी सात महीने की बहन तुका और दलिया के साथ मौजूद थी. हमले के दौरान जब इमारत ध्वस्त हुई उस वक्त भी रिहम ने अपनी बहन का साथ नहीं छोड़ा. तस्वीरों में देखा जा सकता है कि रिहम ने आखिरी समय तक अपनी बहन तुका की टी-शर्ट पकड़ रखी है. तस्वीर में दोनों बच्चियों के पिता अमजद मदद के लिए चीख रहे हैं.


तीसरी बहन दलिया के सीने में गंभीर चोट
बताया जाता है कि दोनों बच्चियों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां पांच साल की रिहम की मौत हो गई जबकि सात महीने की बहन तुका के सिर पर गंभीर चोट लगी है. बच्ची का इलाज कर रहे डॉ. इस्माइल ने बताया कि बच्ची की हालत स्थिर बनी हुई है. तीसरी बहन दलिया के सीने में गंभीर चोट आई है और उसकी सर्जरी कर दी गई है. दलिया की हालत भी खतरे से बाहर बताई जा रही है.



इसे भी पढ़ें :- सीरिया से भी हुआ ISIS का सफाया, अमेरिकी सैनिकों ने आखिरी गढ़ को कराया आज़ाद

जानकारी के मुताबिक जिस घर पर ये हमला किया गया था, उसमें अमजद अपनी पत्नी और छह बच्चियों के साथ रहता था. डॉ. इस्माइल के मुताबिक हमले में रिहम की मां और उसकी एक और बहन की मौत हो गई है. अमजद की दूसरी बेटी रोवर के सीने में घाव हो जाने के कारण उसकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें :- इस्लामिक स्टेट का आखिरी ठिकाना भी धवस्त, ट्रकों में भरकर निकाले गए लोग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज