यहां ज्वालामुखी विस्फोट से 6 KM. ऊंचाई तक निकलने लगी राख, देखें VIDEO

यहां ज्वालामुखी विस्फोट से 6 KM. ऊंचाई तक निकलने लगी राख, देखें VIDEO
माउंट मेरापी में ज्वालामुखी विस्फोट हुआ

इंडोनेशिया में रविवार को एक ज्वालामुखी (Volcano Eruption) से बहुत ज्यादा लावा निकलना शुरू हो गया. यह लावा 6 किलोमीटर ऊंचाई (Six Kilometre Altitude) तक आसमान में पहुंच रहा था.

  • Share this:
जर्काता. इंडोनेशिया में रविवार को एक ज्वालामुखी (Volcano Eruption) से बहुत ज्यादा लावा निकलना शुरू हो गया. यह लावा 6 किलोमीटर ऊंचाई (Six Kilometre Altitude) तक आसमान में पहुंच रहा था. दरअसल, इंडोनेशिया के माउंट मेरापी (Mount Merapi) में रविवार को एक ज्वालामुखी से दो बार लावा निकलने की घटना हुई. ज्वालामुखी के दो बार विस्फोट होने की घटना के बीच करीब सात मिनट का अंतर था. इसके बाद ज्वालमुखी से 6 किलोमीटर ऊंचाई तक राख निकलने लगी. ज्वालामुखी से उठ रहे राख के चलते आसमान में गुबार छा गया और कई गांवों में अंधेरा हो गया. इस घटना की सूचना मिलते ही हवाई जहाज के उड़ानों को लेकर चेतावनी जारी की गई. उनके रूट बदले गए.

दुनिया के सबसे सक्रिय ज्वालामुखी में से एक हैं माउंट मेरापी

माउंट मेरापी दुनिया के सबसे सक्रिय ज्वालामुखी में से एक है. फ्रांस 24 के मुताबिक, हवा क्रेटर के पश्चिम में बहने लगी और इसके बाद इंडोनेशिया के जावा द्वीप में स्थित ज्वालामुखी के पास रहने वाले लोगों के 3 किलोमीटर के दायरे में प्रवेश पर रोक लगा दी गई.



 



इसके साथ ही ज्वालामुखी विस्फोट के बाद एजेंसी द्वारा रेड कोड के साथ उड़ानों के लिए एक नोटिस जारी किया गया है. 2,930 ऊंचे माउंट मेरापी में इससे पहले 2 अप्रैल को विस्फोट हुआ था. अप्रैल में आसमान में 3 किलोमीटर तक राख उड़ने लगी थी. वर्ष 2019 के अगस्त से अब तक तीन बार यहां ज्वालामुखी विस्फोट हो चुका है. रविवार को हुई इस घटना में विस्फोट से निकला राख बहुत दूर-दूर तक बिखरे हुए पाए गए.

ये भी पढ़ें: नस्लीय भेदभाव के प्रतीक पूर्व राष्ट्रपति रूजवेल्ट की प्रतिमा म्यूजियम से हटाने का फैसला 

ब्रिटेन की अश्वेत आबादी ने माना-पुलिस उनसे सम्मान से नहीं आती पेश

नदी में डूब रहे बच्चे को बचाने कूदे 7 और बच्चे, आठों की हुई मौत

टिकटॉक यूजर्स ने किया दावा, हमने डोनाल्ड ट्रंप की रैली फ्लॉप करा दी

इस माउंट से वर्ष 2010 में बहुत भयानक विस्फोट हुआ था जिसमें 300 लोग मारे गए थे. इस घटना के वजह से 2.8 लाख लोगों ​को विस्थापित होना पड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading