नए कानून पर अमेरिकी विरोध पर हांगकांग की चेतावनी- प्रतिबंध दोधारी तलवार, यूएस को होगा नुकसान

नए कानून पर अमेरिकी विरोध पर हांगकांग की चेतावनी- प्रतिबंध दोधारी तलवार, यूएस को होगा नुकसान
हांगकांग की सरकार ने अमेरिकी प्रतिबंधों को लेकर यूस को चेतावनी दी है.

हांगकांग (Hong Kong) की सरकार ने अमेरिकी प्रतिबंध लगाने के सवाल पर चेतावनी देते हुए कहा है कि इससे अमेरिकी अर्थव्यवस्था (American Economy) को भी नुकसान पहुंचेगा.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
हांगकांग (Hong Kong) ने अमेरिका (America) को अपने यहां चीन के लगाए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (National Security legislation) के मसले से दूर रहने को कहा है. हांगकांग ने चेतावनी दी है कि इस सुरक्षा कानून की आड़ में अगर अमेरिका हांगकांग को आर्थिक तौर पर स्पेशल स्टेट्स छीनता है तो ये अमेरिका के लिए ही नुकसानदायक होगा. अमेरिकी अर्थव्यवस्था को इसका बैकफायर झेलना पड़ सकता है.

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक हांगकांग की सरकार की तरफ से ये बयान जारी किया गया है.
चीन ने हांगकांग को लेकर एक नया सुरक्षा कानून लागू किया है. हांगकांग के लोकतंत्र समर्थक लोग वकील, डिप्लोमैट्स और इंवेस्टरों को लगता है कि इस कानून के जरिए हांगकांग की आजादी छिन जाएगी.

ट्रंप कर सकते हैं प्रतिबंधों का ऐलान



इसको लेकर ट्रंप ने सख्त प्रतिक्रिया जाहिर की थी. ट्रंप ने कहा था कि वो ट्रेड के लिहाज से चीन को दिया स्पेशल स्टेट्स का दर्जा छीन सकते हैं. इसको लेकर शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कुछ बड़ी घोषणा करने वाले थे.



हांगकांग में वन कंट्री टू सिस्टम की पॉलिसी लागू है. ब्रिटिश सरकार से वापस लेने के बाद चीन ने इस प्रदेश को अधिक स्वायत्ता दी थी. लेकिन नए कानून के लागू होने के बाद हांगकांग की स्वायत्ता छिनने की बात कही जा रही है.

इसको लेकर हांगकांग के लोगों में गुस्सा है. 1997 में कुछ शर्तों के साथ ब्रिटिश सरकार ने हांगकांग की कमान चीन को दी थी. अब नए कानून के लागू होने के बाद हांगकांग के लोग उसके विरोध में सड़कों पर उतर सकते हैं.

हांगकांग में चीन समर्थित सरकार कर रही है कानून का बचाव
चीन समर्थित हांगकांग की सरकार की तरफ से कहा गया है कि कोई भी प्रतिबंध दोधारी तलवार होती है. इससे सिर्फ हांगकांग के ही हित प्रभावित नहीं होंगे, बल्कि अमेरिका को भी इसका नतीजा भुगतना पड़ेगा.

एक रिपोर्ट के मुताबिक 2009 से लेकर 2018 तक अमेरिका ने हांगकांग के साथ 297 बिलियन डॉलर का कारोबार किया है. हांगकांग वाशिंगटन का सबसे बड़ा बिजनेस पार्टनर रहा है. इस वक्त करीब 1300 अमेरिकी फर्म हांगकांग शहर में काम कर रहे हैं.

बीजिंग की तरफ से कहा गया है कि नया कानून सितंबर से हांगकांग में लागू होगा. इस कानून के जरिए शहर में तोड़फोड़, अलगाववाद, आतंकवाद और बाहरी हस्तक्षेप से निपटा जाएगा. ऐसा कहा जा रहा है कि हांगकांग में चीनी खुफिया एजेंसियां अपना अड्डा जमा सकती हैं.

चीन की मिनिस्ट्री ऑफ पब्लिक सिक्योरिटी की तरफ से कहा गया है कि वो हांगकांग में हिंसा के मामलों और हालात को सामान्य बनाए रखने में हांगकांग की पुलिस की मदद करेंगे. जबकि हांगकांग की पुलिस चीन के नियंत्रण से मुक्त है और चीन की मिनिस्ट्री ऑफ पब्लिक सिक्योरिटी का हांगकांग के भीतर कुछ अधिकार हासिल नहीं है.

ये भी पढ़ें:

भारत के साथ सीमा विवाद पर ट्रंप के ऑफर पर बोला चीन- किसी तीसरे की मध्यस्थता की जरूरत नहीं
First published: May 29, 2020, 4:30 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading