पीएम मोदी और पुतिन की 2001 में हुई पहली मुलाकात का भारत-रूस समझौतों पर अब कितना होगा असर?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रूस की दो दिवसीय यात्रा पर हैं. वह राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ प्रतिनिधिमंडल स्‍तर की बातचीत कर चुके हैं. उन्‍होंने एक साक्षात्‍कार में बताया कि मास्‍को में पहली मुलाकात के दौरान पुतिन ने उन्‍हें किसी से कम अहम महसूस नहीं होने दिया. तब दोनों के बीच दोस्‍ताना माहौल में बातचीत हुई थी.

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 6:11 PM IST
पीएम मोदी और पुतिन की 2001 में हुई पहली मुलाकात का भारत-रूस समझौतों पर अब कितना होगा असर?
पीएम नरेंद्र मादी 2001 में तत्‍कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ मॉस्‍को गए थे. तब वह गुजरात के सीएम थे. इस दौरान पहली बार उनकी मुलाकात राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन से हुई थी.
News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 6:11 PM IST
नई दिल्‍ली/व्लादिवोस्तोक. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रूस के दो दिवसीय दौरे पर हैं. उन्‍होंने कहा कि यह यात्रा दो देशों के संबंधों को नई दिशा देने के साथ ही नई ऊर्जा और रफ्तार देगी. पीएम मोदी 20वें भारत-रूस सालाना सम्‍मेलन और पाचवें ईस्‍टर्न इकोनॉमिक फोरम (EEF) में शिरकत करने के लिए बुधवार को व्लादिवोस्तोक पहुंचे. उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ प्रतिनिधिमंडल स्‍तर की बातचीत की. इस दौरान दोनों देशों के बीच कई समझौते हुए.

बीते 20 साल में भारत-रूस के संबंध काफी मजबूत हुए
पीएम मोदी ईईएफ में शिरकत करने के साथ ही कई वैश्विक नेताओं से मुलाकात भी करेंगे. उन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने रूस की सरकारी न्‍यूज एजेंसी टीएएसएस (TASS) को दिए साक्षात्‍कार में कहा कि पिछले 20 साल में भारत और रूस के संबंध काफी मजबूत हुए हैं. इस दौरान दोनों देशों की सबसे बड़ी उपलब्धि एकदूसरे पर पूरा भरोसा होना है. यह खुद में बहुत अहमियत रखता है. उन्‍होंने 2001 में पुतिन के साथ हुई पहली मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि उस दौरान मैं तत्‍कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ मास्‍को पहुंचा था.

'पहली मुलाकात में ही खुल गई थी हमारी दोस्‍ती की राह'

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 2001 में मास्‍को यात्रा के दौरान मैं गुजरात का मुख्‍यमंत्री था. तब मेरी राष्‍ट्रपति पुतिन से पहली मुलाकात थी. इस मुलाकात के दौरान उन्‍होंने मुझे एक बार भी यह अहसास नहीं होने दिया कि मैं उनके लिए किसी से कम अहमियत रखता हूं. उन्‍होंने मुझे यह अहसास नहीं होने दिया कि मैं एक छोटे राज्‍य से आया नया व्‍यक्ति हूं. उन्‍होंने मुझसे बहुत ही दोस्‍ताना व्‍यवहार किया था. नतीजतन हमारी दोस्‍ती की राह खुल गई. पीएम मोदी ने याद किया कि इस दौरान दोनों के बीच दोनों देशों से जुड़े मुद्दों के साथ वैश्विक समस्‍याओं और एकदूसरे की आदतों पर भी चर्चा हुई. उस दौरान राष्‍ट्रपति पुतिन से बात करना बहुत अच्‍छा अनुभव रहा था. पीएम मोदी ने आज एक ट्वीट में 2001 की मॉस्‍को यात्रा की तस्‍वीरें साझा कीं.

'पुतिन सीधी बात करते हैं और दूसरों से भी यही चाहते हैं'
पीएम मोदी ने कहा कि उस यात्रा के दौरान राष्‍ट्रपति पुतिन से बात करने पर मुझे काफी जानकारी मिली. वह बहुत ही खुले दिल के व्‍यक्ति हैं. वह सीधी बात करते हैं और ऐसा ही दूसरों से भी चाहते हैं. लिहाजा, हमने बिना अगर-मगर के बातचीत की. हमें उनकी सोच के बारे में स्‍पष्‍ट तौर पर समझने का मौका मिला. ऐसे में मुझे भी अपने विचार साझा करने में काफी सहूलियत हुई. उन्‍होंने कहा कि वैश्‍विक मुद्दों पर भारत और रूस के विचार एक जैसे हैं. अगर किसी मुद्दे पर असहमति है भी तो वो बहुत मामूली है. इससे हमारे संबंधों पर बहुत अच्‍छा असर पड़ा है.

साझा हितों वाले क्षेत्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों पर होगी चर्चा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राष्‍ट्रपति पुतिन से हर मुलाकात के साथ हमारी नजदीकियां बढ़ रही हैं और हमारे संबंध ज्‍यादा मजबूत हो रहे हैं. रूस जाने से पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने कहा था कि इस यात्रा में वह साझा हितों वाले क्षेत्रीय व अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों पर पुतिन से चर्चा करेंगे. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि इस दौरे से दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध और मजबूत होंगे. ईईएफ में रूस के पूर्वी क्षेत्र में कारोबार व निवेश के अवसरों पर चर्चा होगी. फोरम में इस क्षेत्र में भारत और रूस के बीच साझा फायदों को लेकर सहयोग की संभावनाओं पर भी चर्चा होगी.

ये भी पढ़ें: 

पुतिन बोले- भारत में बनाएंगे राइफल-मिसाइल सिस्टम, PM मोदी ने कही ये बात
Opinion: असम में NRC, एक सूची या दीवार से सुलझने वाला नहीं वैश्विक प्रवासी संकट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 3:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...