सब कैसा है? 6 महीने अंतरिक्ष स्टेशन में बिताने वाले अंतरिक्ष यात्री ने लौटते ही पूछा ये सवाल

फोटो साभारः NASA
फोटो साभारः NASA

नासा के तीनों खगोल यात्रियों- अमेरिका के क्रिस केसिडी रूस के अनातोली इवानिशीन तथा इवान वेगनर को लेकर आया सोयूज कैप्सूल कजाखस्तान के देजकाजगन शहर के दक्षिण पूर्व में बृहस्पतिवार की सुबह सात बजकर 54 मिनट पर उतरा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 2:14 PM IST
  • Share this:
मास्को. अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) में छह महीने के अभियान के बाद तीन अंतरिक्ष यात्री (Astronaut) गुरुवार को सुरक्षित धरती पर लौट आए. नासा (NASA) के तीनों खगोल यात्रियों- अमेरिका के क्रिस केसिडी, रूस के अनातोली इवानिशीन और इवान वेगनर को लेकर आया सोयूज कैप्सूल कजाखस्तान के देजकाजगन शहर के दक्षिण पूर्व में बृहस्पतिवार की सुबह सात बजकर 54 मिनट पर उतरा.

चिकित्सा जांच के बाद तीनों को हेलीकॉप्टर से देजकाजगन लाया जाएगा जहां से वे अपने घर के लिए उड़ान भरेंगे. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के कारण अतिरिक्त सावधानी को ध्यान में रखते हुए रूसी बचाव दल (Russian Rescue Team) की टीम के साथ जब उनकी (अंतरिक्ष यात्रियों) मुलाकात हुई तो उससे पूर्व उनकी कोरोना वायरस जांच की गई. राहत प्रयासों में शामिल लोगों की संख्या सीमित थी.

यान की सुरक्षित लैंडिंग के बाद केसिडी ने मुस्कुराते हुए पूछा- सब कैसा है? केसिडी, इवानिशीन और वेगनर अप्रैल से ही अंतरिक्ष स्टेशन में रह रहे थे. नासा के केट रूबिंस, रूस के सर्गेई रेजिकोव और सर्गेई कुद-सेवरेचकोव एक सप्ताह पहले छह महीने के लिए अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंच चुके हैं. फिलहाल सेफ लैडिंग से सभी वैज्ञानिकों ने राहत की सांस ली है. देखें VIDEO...




ट्रेनिंग से पहले फैसेलिटी में क्वारंटाइन में रहे
तीनों अंतरिक्ष यात्री अपनी यात्रा से पहले मास्को के बाहर स्टार सिटी ट्रेनिंग फैसेलिटी में क्वारंटाइन भी रहे थे, ताकि कोरोना से संक्रमित होने का कोई खतरा न हो. ये लोग अंतरिक्ष स्टेशन में छह महीने तक रहें.

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन धरती से 260 मील (420 किलोमीटर की ऊंचाई पर पृथ्वी की कक्षा में करीब 17,000 मील प्रतिघंटे की रफ्तार से घूमता है. साल 1999 से 2018 तक नासा ने ऐसे करीब 25 अभ्यास किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज