जानिए, डोनाल्‍ड ट्रंप के भारत दौरे पर क्या कह रही है विदेशी मीडिया

भारत-अमेरिका के बीच हुए डील के बाद डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी

एक तरफ पाकिस्तानी मीडिया ट्रंप के दौरे को लेकर भारत को निशाने पर लिए हुए है. वहीं अमेरिकी और यूरोपीय मीडिया ने ट्रंप-मोदी की नजदीकियों के अलावा भारत-US के बीच होने जा रही ट्रेड डील पर चीन की प्रतिक्रिया को लेकर कयास लगाए हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पहले आधिकारिक भारत दौरे पर सिर्फ देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी काफी चर्चाएं हो रही हैं. एक तरफ पाकिस्तानी मीडिया ट्रंप के दौरे को लेकर भारत को निशाने पर लिए हुए है. वहीं अमेरिकी और यूरोपीय मीडिया में इस दौरे को अलग-अलग तरह से प्रकाशित किया गया है. इस दौरे पर एक बार फिर दिखी ट्रंप-मोदी की नजदीकियों के भी चर्चे हैं तो भारत-US के बीच होने जा रही ट्रेड डील पर चीन की प्रतिक्रिया को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं.

    सबसे पहले CNN इंटरनेशनल की बात करे तो उसने इस पर 'ट्रंप फील्स लव' नाम से कवरेज की और इसमें कहा गया कि भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप का ठीक वैसा ही स्वागत किया जैसी उम्मीद लगाकर वो आए थे. मोदी-ट्रंप के बीच गर्मजोशी और उनके गले मिलने के अंदाज़ के भी चर्चे रहे. सीएनएन ने कहा कि ट्रंप ने जिस तरह से कई बार ट्रेड डील का ज़िक्र किया उससे साफ़ समझ आ रहा है कि इस पर दोनों देशों की तरफ से काफी पहले ही काम शुरू हो चुका है. ट्रंप के मोटेरा भाषण में सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली और DDLJ फिल्म के उल्लेख पर भी काफी बातचीत हो रही है.

    न्यूयॉर्क टाइम्स ने भी इसे 'अमेरिका लव्ज इंडिया' शीर्षक से प्रकाशित किया है. अखबार ने 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम का ज़िक्र करते हुए कहा है कि दिन भर चले इस कार्यक्रम को भारत ने अपने सबसे बड़े स्टेडियम में आयोजित किया और ये काफी खूबसूरत रहा. हालांकि इसमें ये भी कहा गया है कि दोनों ही नेताओं ने एंटी-मुस्लिम छवि से दूरी बनाते हुए सिर्फ गरीबी हटाने और विकास की योजनाओं को ही केंद्र में रखा.

     

    ब्रिटेन के नामी अखबार गार्जियन ने इसे 'पिनेकल ऑफ़ ट्रंप विजिट टू इंडिया' नाम से प्रकाशित किया. गार्जियन ने इसे विश्व के दो बड़े नेताओं के लिए अपनी शक्ति और दोस्ती दिखाने के लिए उपर्युक्त मंच करार दिया. गार्जियन में लिखा गया- ट्रंप की इस 36 घंटे की भारत यात्रा से कितने द्विपक्षीय समझौते हो पाएंगे इस पर तो शक किया जा सकता है लेकिन जिस ट्रेड डील की बात हो रही है वो दोनों देशों के रिश्तों में मील का पत्थर साबित हो सकती है. ट्रंप के भाषण से स्पष्ट है कि वे भारत के साथ रिश्तों को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं.

    उधर BBC ने लिखा कि ट्रंप और मोदी दोनों ही ऊर्जावान दिखे और उनकी मुलाक़ात काफी गर्मजोशी से भरी रही. बीबीसी ने आगे लिखा कि गुजरात पीएम मोदी का गृह राज्य है और इसलिए ही उन्होंने मोटेरा में ट्रंप को बुलाने का निर्णय लिया होगा. भाषण में ट्रंप ने जिस तरह भारतीय खिलाड़ियों और फिल्मों का नाम लिया उससे स्टेडियम में मौजूद जनता को भी निराशा हाथ नहीं लगी. उधर MSNBC ने लिखा है कि प्रेजिडेंट ट्रंप दिखावे और उत्सव में यक़ीन रखते हैं और विदेशी अधिकारियों ने भी अब इसके बारे में जान लिया है. MSNBC के मुताबिक अन्य देशों के राष्ट्रपति स्थानीय छात्रों से संवाद करते हैं या विदेशी पत्रकारों से बात करते हैं लेकिन ट्रंप ये सब नहीं करते क्योंकि उनकी दिलचस्पी दूसरी चीज़ों में है.

    ये भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा- हेलिकॉप्टर समझौते से बढ़ेगी भारत की ताकत

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.