UNHRC: गिलगित-बाल्टिस्तान के कार्यकर्ता ने पूछा- PAK कश्मीर को कैसे कह सकता है विवादित इलाका?

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 11:59 AM IST
UNHRC: गिलगित-बाल्टिस्तान के कार्यकर्ता ने पूछा- PAK कश्मीर को कैसे कह सकता है विवादित इलाका?
गिलगित-बाल्टिस्तान के इलाके से आने वाले रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन (फाइल फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर (Kashmir) के गिलगित-बाल्टिस्तान (Gilgit-Baltistan) के इलाके की बुरी हालत किसी से छिपी नहीं है. पाकिस्तान में इस इलाके के लोगों के साथ होने वाले भेदभाव की ख़बरें भी अक्सर सामने आती रहती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 11:59 AM IST
  • Share this:
जिनेवा. पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर (Kashmir) के गिलगित-बाल्टिस्तान (Gilgit-Baltistan) के इलाके की बुरी हालत किसी से छिपी नहीं है. पाकिस्तान में इस इलाके के लोगों के साथ होने वाले भेदभाव की ख़बरें भी अक्सर सामने आती रहती हैं. लेकिन अब कश्मीर (Kashmir) को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा (International Issue) बनाने पहुंचे पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में गिलगित-बाल्टिस्तान की अपनी गतिविधियों को लेकर वहीं के व्यक्ति से डांट खानी पड़ी है.

गिलगित-बाल्टिस्तान पर जबरदस्ती कब्जा जमाने के चलते और यहां के लोगों की खराब आर्थिक हालत और मानवाधिकार हनन (Human Rights Violations) के मुद्दे को उठाते हुए इस इलाके से आने वाले रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाई है.

पाकिस्तान के चलते गिलगित-बाल्टिस्तान का महत्व नहीं जानते लोग
दरअसल गिलगित-बाल्टिस्तान इलाके से आने वाले रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की 42वीं बैठक में, जिनेवा में कहा, "पाकिस्तान कहता रहा है कि पूरा जम्मू-कश्मीर विवादित इलाका है इसलिए इस इलाके के लोगों को स्वनिर्णय का अधिकार होना चाहिए. मैं यह जरूर पूछना चाहूंगा कि पाकिस्तान कैसे कह सकता है कि यह इलाका विवादित है?"


Loading...



उन्होंने यह भी कहा, "पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान को लंबे समय से कश्मीर के नाम के नीचे छिपाकर रखा हुआ है कि लोग न तो गिलगित-बाल्टिस्तान के महत्व के बारे में जानते हैं और न ही इसके बाकी जम्मू और कश्मीर से संबंधों के बारे में ही जानते हैं."

कौन हैं वजाहत हसन?
पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान इलाके से आने वाले रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन अब एक राजनीतिक कार्यकर्ता (Political Activist) के तौर पर काम करते हैं और वे गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों के हक के लिए आवाज उठाते रहे हैं.

इससे पहले उन्होंने इसी साल मार्च में पाकिस्तान के जरिए इस इलाके में आतंकरोधी कानून की आड़ में राजनीतिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाए जाने की बात कही थी. वह पाकिस्तान के कब्जे में रहने से गिलगित-बाल्टिस्तान के इलाके के लोगों को होने वाली समस्याओं को अंतरराष्ट्रीय मंचों से भी उठाते रहे हैं.



यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान की कश्‍मीर पर मध्‍यस्‍थता की मांग पर UN ने कहा- आपसी बातचीत से सुलझाएं मुद्दा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 6:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...