लाइव टीवी

Howdy Modi: पाकिस्‍तानी राजदूत ने कहा, पीएम नरेंद्र मोदी को अपना मित्र और सहयोगी मानते हैं ट्रंप

News18Hindi
Updated: September 17, 2019, 12:02 PM IST
Howdy Modi: पाकिस्‍तानी राजदूत ने कहा, पीएम नरेंद्र मोदी को अपना मित्र और सहयोगी मानते हैं ट्रंप
पाकिस्‍तान के पूर्व राजदूत हुसैन हक्‍कानी ने कहा कि भले ही ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की हाल में मेजबानी की हो, लेकिन वह अपना करीबी मित्र और सहयोगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही मानते हैं.

अमेरिका (US) में पाकिस्‍तान (Pakistan) के राजदूत रहे हुसैन हक्‍कानी (Hussain Haqqani) ने कहा, 'हाउडी मोदी' (Howdy Modi) कार्यक्रम में शामिल होने के अमेरिकी राष्‍ट्रपति के फैसले से स्‍पष्‍ट है कि मोदी-ट्रंप (Modi-Trump) के संबंध कितने गहरे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2019, 12:02 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (US) में पाकिस्तान (Pakistan) के राजदूत रहे हुसैन हक्‍कानी (Hussain Haqqani) ने कहा कि 'हाउडी मोदी' (Howdy Modi) कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ शामिल होने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के फैसले से स्‍पष्‍ट है कि दोनों के बीच संबंध काफी गहरे हैं. उन्‍होंने कहा कि भले ही ट्रंप ने हाल में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की मेजबानी की हो, लेकिन वह अपना करीबी मित्र और सहयोगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही मानते हैं. पाक पर कई पुस्तकें लिखने चुके 63 वर्षीय हक्कानी इस समय थिंक टैंक हडसन इंस्टीट्यूट के दक्षिण व मध्य एशिया विभाग के निदेशक हैं.

इस साल तीसरी बार मोदी-ट्रंप की होगी मुलाकात
व्हाइट हाउस के मुताबिक, ट्रंप ह्यूस्टन में 22 सितंबर को होने वाले 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ शामिल होंगे. इस कार्यक्रम में 50,000 भारतीय अमेरिकी भाग ले रहे हैं. इस घोषणा के एक दिन बाद हक्कानी ने कहा, यह उन लोगों को निश्चित ही निराश करेगा जिनका सोचना था कि इमरान खान की वाशिंगटन यात्रा अमेरिका और पाकिस्तान के संबंधों में बड़ी प्रगति दर्शाती है. मोदी और ट्रंप की यह इस साल तीसरी मुलाकात होगी.

'द्विपक्षीय व्‍यापार में दिखी है सकारात्‍मक प्रगति'

मोदी और ट्रंप के बीच जून में जापान में जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर और फ्रांस में जुलाई में जी-7 शिखर सम्मेलन के इतर मुलाकात हुई थी. समारोह का आयोजन करने वाले साझेदारों में शामिल अमेरिका इंडिया स्ट्रैटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम (USISPF) ने ट्रंप के कार्यक्रम में भाग लेने के फैसले की प्रशंसा की. फोरम ने कहा कि पिछले एक दशक में भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय व्यापार काफी सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ा है.

'इस साल भारत में अमेरिका का ऊर्जा निर्यात बढ़ा'
फोरम के अध्यक्ष मुकेश अग्नि ने कहा, 'दोनों नेताओं के अच्‍छे संबंध भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी को लेकर उनकी प्रतिबद्धता दिखाता है. अमेरिका की ऊर्जा राजधानी होने के नाते ह्यूस्टन दोनों नेताओं की मुलाकात के लिए उचित जगह है. इस साल ही भारत में अमेरिका का ऊर्जा निर्यात कुल निर्यात का करीब 75 प्रतिशत रहा है. दोनों देशों की कंपनियां दोनों देशों में निवेश और रणनीतिक साझेदारी पर सक्रिय रूप से बातचीत कर रही हैं. हमने पिछले एक दशक में द्विपक्षीय व्यापार में काफी प्रगति देखी है.
Loading...

'ट्रंप की मौजूदगी का मकसद संबंधों को मजबूती देना'
CNBC की रिपोर्ट के मुताबिक, 'हाउडी मोदी' में ट्रंप की मौजूदगी का मकसद अमेरिका-भारत संबंधों को मजबूती देना है. इसका मकसद दोनों देशों के अधिकारियों के बीच तनावपूर्ण व्यापार वार्ता और कश्मीर मामले को लेकर सरकार की आलोचना के बीच प्रधानमंत्री के प्रति अमेरिका का समर्थन दर्शाना है. वहीं, मंच पर मोदी के साथ ट्रंप की मौजूदगी दिखाएगी कि अमेरिका भारत का समर्थन कर रहा है. पूंजी प्रबंधन समूह ब्लैकस्टोन इंडिया के पूर्व अध्यक्ष अखिल गुप्ता ने कहा, 'मोदी के लिए यह अहम है कि अमेरिका पाकिस्तान का खुलकर समर्थन नहीं कर रहा है.'

ये भी पढ़ें:

Birthday Special: पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने हर साल कुछ इस अंदाज में मनाया जन्‍मदिन ​

बचपन में चाय बेचने से लेकर दो बार पीएम बनने तक कुछ ऐसा रहा नरेंद्र मोदी का संघर्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 12:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...