स्वेज नहर में अटका विशाल एवर गिवन जहाज, विश्व कारोबार हो सकता है प्रभावित

स्वेज नहर में अटका एवर गिवन (फाइल फोटो: Shutterstock)

स्वेज नहर में अटका एवर गिवन (फाइल फोटो: Shutterstock)

Ever Given Stuck in Suez Canal: मामले की शुरुात गुरुवार को ही, जब 120 मील लंबी नहर के किनारे पर तेज हवाओं की वजह से रेत का गुबार उठा. जैसे-जैसे हवा धूल के साथ 46 मील प्रति घंटे की रफ्तार पर पहुंची, तो क्रू ने जहाज पर नियंत्रण खो दिया और रेतीले किनारे पर पहुंच गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 10:21 AM IST
  • Share this:
काहिरा. दुनिया के सबसे अहम जलमार्ग कहे जाने वाले स्वेज नहर (Suez Canal) में बड़ा कार्गो जहाज अटक गया है. बुधवार को भी हुई कई कोशिशों के बाद भी इस जहाज को निकाला नहीं जा सका. इस घटना के बाद क्षेत्र में जहाजों का जाम लग गया है. जानकारों का कहना है कि रविवार या सोमवार तक जहाज का आजाद होना मुश्किल है. फिलहाल जहाज को बाहर निकालने की कोशिशें जारी हैं.

करीब 400 मीटर लंबे और 2 हजार मैट्रिक टन वजनी होने के चलते जहाज को निकालने की प्रक्रिया और मुश्किल हो गई है. हालात इतने खराब हो चुके हैं कि एक एलीट स्क्वाड गुरुवार को यहां पहुंच रही है. इस जहाज के अटकने से आम वस्तुओं के साथ-साथ तेल का सप्लाई भी अटक गई है. सेल्वेज मास्टर निक स्लोन कहते हैं कि अभी भी जहाज को आजाद कराने का मौका रविवार या सोमवार तक नहीं आएगा, जब टाइड अपने चरम पर होगा.

मामले की शुरुात गुरुवार को ही, जब 120 मील लंबी नहर के किनारे पर तेज हवाओं की वजह से रेत का गुबार उठा. यह वनहर उत्तर में मेडिटेरेनियन से दक्षिण में लाल समुद्र को जोड़ती है. यह जलमार्ग संकरा है और ऐसे समय पर जब द्रश्यता बेहद कम हो जाती है, तो रास्ते का पता लगाना भी मुश्किल होता है. जैसे-जैसे हवा धूल के साथ 46 मील प्रति घंटे की रफ्तार पर पहुंची, तो क्रू ने जहाज पर नियंत्रण खो दिया और रेतीले किनारे पर पहुंच गई.

क्यों जरूरी है यह रास्ता


विश्व का 12 फीसदी कारोबार इस नहर के जरिए होता है. यही वजह है कि यह 1869 में पूरी तरह तैयार होने के बाद इस नहर के लिए विश्व ताकतों ने लड़ाई की. एवर गिवन के ट्रैफिक अटकने के चलते ग्लोबल सप्लाई चेन खासी प्रभावित हुई है. खास बात है कि जैसे-जैसे वैश्विक कारोबार बढ़ रहा है. वैसे ही वेसल्स का आकार भी बढ़ता गया. इसके चलते जहाजों की आवाजाही और भी मुश्किल हो गई है. ब्लूमबर्ग की तरफ से इकट्ठे किए गए डेटा के अनुसार, बुधवार को 185 वेसल्स नहर पार करने के लिए इंतजार कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज