US Presidential Election Prediction: अगर प्री-पोल सर्वे साबित हुए सही तो जो बाइडन होंगे अगले अमेरिकी राष्ट्रपति

प्री-पोल सर्वे में बाइडन ने ट्रंप पर 10 पॉइंट की बढ़त बनाई.
प्री-पोल सर्वे में बाइडन ने ट्रंप पर 10 पॉइंट की बढ़त बनाई.

US Presidential Election Prediction: प्री-पोल सर्वे अमेरिकी राष्ट्रपति और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के लिए बुरी खबर लेकर आए हैं. सर्वे में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) ने ट्रंप के समक्ष 10 पॉइंट की बढ़त बना ली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 5:12 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. कुछ ही घंटों बाद अमेरिका में अगले राष्ट्रपति के लिए मुख्य मतदान (US Election 2020) शुरू हो जाएगा. हालांकि प्री पोल (Pre-Poll Survey) सर्वे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को बड़ा झटका लगता नज़र आ रहा है. CNN के पोल ऑफ़ पोल्स के मुताबिक जो बाइडन (Joe Biden) ने ट्रंप पर 10 अंकों की बढ़त बनाई हुई है. नेशनल पोलिग एवरेज में ट्रंप के पक्ष में 42% लोग हैं, जबकि बाइडन को 52% से भी ज्यादा लोगों का साथ मिलता नज़र आ रहा है. प्री पोल सर्वे के एवरेज में ट्रंप का 10 अंकों से पिछड़ना निर्णायक भी माना जा रहा है. यानी अगर प्री-पोल सर्वे सही रहे तो जो बाइडन अमेरिका के अगले राष्ट्रपति हो सकते हैं.

CNN का पोल ऑफ़ पोल्स खुद CNN, न्यूयॉर्क टाइम्स और फॉक्स न्यूज़ के प्री पोल्स के एवरेज के आधार पर तैयार किया गया है. हालांकि रिपब्लिकन्स ने आरोप लगाया है कि NYT और CNN हमेशा से ही डेमोक्रेट समर्थक रहे हैं, ऐसे में उनके प्रीपोल पर भरोसा करना मुश्किल है. हालांकि CNN के प्री पोल में जहां बाइडन को 12 अंकों से आगे दिखाया गया है, जबकि ट्रंप के फेवरेट फॉक्स न्यूज के प्री-पोल में भी वे 8% से पीछे चल रहे हैं. बीते चुनावों के मुकाबले डेमोक्रेट कैंडिडेट बाइडेन काफी अच्छी स्थिति में नज़र आ रहे हैं. साल 2016 के चुनावों में ट्रंप कुछ प्री-पोल सर्वे में हिलरी क्लिंटन से आगे चल रहे थे. पहले हिलरी भी ट्रंप से 10 पॉइंट से आगे थीं लेकिन बाद में ये अंतर ख़त्म होता गया.






भारत और भारतवंशी मतदाता बड़ा मुद्दा
इस बार के चुनाव में जहां भारत और भारतवंशी मतदाता बड़ा मुद्दा बनकर उभरे हैं वहीं डेमोक्रेटिक पार्टी ने भारतवंशी कमला हैरिस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है. कई सर्वे में बाइडन ट्रंप पर बढ़त बनाए हुए हैं. अर्ली वोटिंग और डाक मतपत्र के माध्यम से अब तक पौन दस करोड़ लोग वोट डाल चुके हैं. यह संख्या वर्ष 2016 में डाले गए वोटों का लगभग 68 फीसद है. दोनों उम्मीदवारों आख़िरी पलों में ज़ोरदार प्रचार कर रहे हैं और वोटरों को लुभाने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ रहे हैं. दोनों ही उम्मीदवार अपने कैंपेन जेट से प्रचार के लिए निकले हुए हैं. हालांकि अमरीका में मतदान के निर्धारित दिन से पहले भी मतदाताओं को अपने वोट डालने की सुविधा होती है और अभी तक नौ करोड़ से ज़्यादा मतदाता वोट डाल चुके हैं. इससे अमरीका पिछली एक सदी के सबसे ज़्यादा वोटर टर्नआउट की ओर बढ़ रहा है. ये आंकड़े हैं यूएस इलेक्शन प्रोजेक्ट वेबसाइट के.

विशेषज्ञों ने इस बार फ्लोरिडा, पेंसिलवेनिया, मिशिगन, विसकॉन्सिन, नॉर्थ कैरोलाइना और एरिज़ोना को टॉप बैटलग्राउंड राज्य कहा है. ये ऐसे राज्य हैं जो किसी पार्टी के गढ़ नहीं हैं और यहां किसी के भी हक़ में चुनाव जा सकता है. इन सभी राज्यों में चुनावी सर्वेक्षण के अनुमान डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडन को ही आगे बता रहे हैं. हालांकि फ्लोरिडा, नॉर्थ कैरोलाइना और एरिज़ोना में दोनों के बीच अंतर बहुत कम है. डोनाल्ड ट्रंप चुनाव के अंतिम पड़ाव में उत्तरी कैरोलाइना, मिशिगन और विस्कॉन्सिन भी जाएंगे. उनका आख़िरी केंद्र होगा मिशिगन का ग्रैंड रेपिड्स. 2016 के चुनावों में यहां ट्रंप की जीत हुई थी लेकिन सबसे कम अंतर से इसी राज्य में जीत मिली थी. सिर्फ़ 10,704 वोटों से उन्होंने हिलेरी क्लिंटन को यहां ये हराया था. 2016 में भी उनका आख़िरी पड़ाव ग्रैंड रेपिड्स ही था. वहीं, जो बाइडन ने आख़िरी वक़्त पर पेंसिलवेनिया और ओहायो जाने का फ़ैसला किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज