पाकिस्‍तान में लॉकडाउन का असर : 40 फीसदी कारोबारी अपने व्‍यापार को लेकर मायूस

पाकिस्‍तान में लॉकडाउन का असर : 40 फीसदी कारोबारी अपने व्‍यापार को लेकर मायूस
सर्वे में सामने आया क‍ि 83 फीसदी कारोबारी अभी भी अपने कर्मचारियों की छंटनी करने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. फोटो साभार/ट्विटर

सर्वे में 30 फीसदी व्यापारियों ने कहा क‍ि कोरोना के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन की वजह से देश सही दिशा में जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 4:12 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पाकिस्‍तान (Pakistan) में कोरोना (Corona virus) के खतरे के मद्देनजर जहां लॉकडाउन (Lockdown) लगाया हुआ है, वहीं इससे व्‍यापारियों को बड़ा नुक्‍सान उठाना पड़ रहा है, उनके कारोबार ठप हो गए हैं. इसके मद्देनजर हाल में गैलप (Gallup) ने एक सर्वे किया है. इसमें कहा गया है कि देश के 40 फीसदी कारोबारी अपने व्‍यापार को लेकर मायूस हैं.

'हमारी वेब डॉट कॉम' की खबर के मुताबिक कोरोना वायरस के कारण पैदा होने वाले आर्थिक संकट के मद्देनजर आम लोगों की राय जानने के मकसद से एक सर्वे कराया गया है. इसे गेलप पाकिस्‍तान की बिजनस पाकिस्‍तान इंडेक्‍स की सर्वे रिपोर्ट सामने आई है. इसमें कहा गया है कि पाकिस्‍तान के व्‍यापारियों में कोरोना वायरस की वजह से कारोबार पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव की वजह से हालात को बद्तर करार देने वाले कारो‍बारियों की तादाद में 21 फीसदी की वृद्धि हुई है.





हालांकि राहत भरी बात यह है कि इसके बावजूद देश के 83 फीसदी कारोबारी अभी भी अपने कर्मचारियों की छंटनी करने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. वहीं गेलप सर्वे में पूछे गए सवाल पर 36 फीसदी लोगों ने अपने व्यवसाय की स्थिति को अच्छा बताया, वहीं 62 फीसदी लोगों ने इस पर नकारात्मक राय दी.
17 फीसदी लोग अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के हक में हैं
इस सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक 40 फीसदी व्यापारी अपने व्यापार के भविष्य को लेकर मायूस हैं. वहीं 38 फीसदी लोगों के मुताबिक उन्‍हें बेहतर की उम्‍मीद है. इसके अलावा 30 फीसदी व्यापारियों के विचार में कोरोना के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन की वजह से देश सही दिशा में जा रहा है. वहीं देश के 83 फीसदी कारोबारियों का कहना था कि वे कारोबार का आगे नुक्‍सान से बचाने और इसमें कमी के लिए अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की नहीं सोच रहे हैं. वहीं 17 फीसदी लोगों का जवाब इसके बरअक्‍स था.

गौरतलब है कि लॉकडाउन के मद्देनजर पाकिस्‍तान की आर्थिक स्थिति और बदहाल हो गई है. एक तरफ लोग बेरोजगार हो रहे हैं, तो वहीं देश में भी लोगों के कारोबार ठप हैं. देश में भुखमरी फैली है और सरकारी मद्द के बावजूद हालात बेहतर नहीं हो रहे.

ये भी पढ़ें - दावों के बावजूद अभी तक नहीं हुई वापसी, सऊदी अरब में फंसे हजारों पाकिस्‍तानी

              PAK में सरकार का फरमान, फैलाया कोरोना तो देना होगा 10 लाख रुपये जुर्माना

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज