लाइव टीवी

डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सिनेट में महाभियोग प्रक्रिया पर चर्चा हुई शुरू

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 12:06 PM IST
डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सिनेट में महाभियोग प्रक्रिया पर चर्चा हुई शुरू
राष्ट्रपति के खिलाफ़ महाभियोग की सुनवाई शुरू

डेमोक्रेट सांसदों ने सीनेट के नेता मिच मैककोनेल (US Senator Mitch McConnell) पर आरोप लगाया कि वह इस प्रक्रिया के लिए प्रस्तावित नियम लाकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 12:06 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ ऐतिहासिक महाभियोग की सुनवाई मंगलवार को सीनेट में सत्तारूढ़ रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों और विपक्षी डेमोक्रेट सदस्यों में आरोप-प्रत्यारोप के बीच शुरू हुई. मंगलवार को शुरू हुई महाभियोग की कार्यवाही से एक हफ्ते पहले डेमोक्रेट्स के बहुमत वाले निचले सदन में चल रही कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट भेजने के पक्ष में सांसदों ने मतदान किया था.

सीनेट में कार्यवाही चलाए जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया था. महाभियोग को सीनेट भेजे जाने से पहले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पैलोसी ने इसके तहत लगाए गए आरोपों पर हस्ताक्षर किए थे. सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है. प्रतिनिधि सभा ने सात महाभियोग प्रबंधकों की नियुक्ति भी की है, जो ट्रम्प को अमेरिकी राष्ट्रपति पद से हटाने के लिए डेमोक्रेट्स के प्रस्ताव की पैरवी करेंगे.

435 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स बहुमत में हैं. सदन में एक राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ जांच करने के लिए यूक्रेन पर दबाव बनाने के मामले में ट्रंप पर गंभीर आरोप लगाते हुए 18 दिसंबर को महाभियोग की प्रक्रिया शुरू की गई.

राष्ट्रपति के वकीलों ने सोमवार को अपने निवेदन में पूरी प्रक्रिया पर सवाल उठाया और अनुरोध किया कि सीनेट को जल्द और एकजुट होकर निंदा करनी चाहिए. उन्होंने मांग की कि जो भी आरोप राष्ट्रपति के खिलाफ लगाए गए हैं वह खारिज होने चाहिए और उन्हें तुरंत आरोपमुक्त घोषित करना चाहिए .

डेमोक्रेट सांसदों ने सीनेट के नेता मिच मैककोनेल पर आरोप लगाया कि वह इस प्रक्रिया के लिए प्रस्तावित नियम लाकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं. रिपब्लिकन मैककोनेल ने कुछ बुनियादी नियम प्रस्तावित किये हैं जिसके तहत पहले चरण में गवाहों और सबूतों पर कुछ कड़े प्रतिबंध लागू होंगे और यह मामला तेजी से आगे बढ़ेगा. उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस नियम को बदलने की डेमोक्रेट सांसदों की कोशिश को तुरंत रोक देंगे.

ये होंगे ट्रंप के वकील
सीनेट में राष्ट्रपति ट्रंप का प्रतिनिधित्व करने वाले वकीलों में केन स्टार, ऐलेन डर्शोविट्स और रॉबर्ट रे होंगे. केन स्टार और रॉबर्ट रे ने बिल क्लिंटन के महाभियोग मामले की भी जांच की थी. व्हाइट हाउस के वकील पैट सिपलोनी और ट्रंप के निजी वकील जे सीकूलो बचाव पक्ष के वकीलों की टीम का नेतृत्व करेंगे.1998 में चला था बिल क्लिंटन पर महाभियोग
अमेरिका के इतिहास में यह तीसरी बार है जब किसी राष्ट्रपति को सीनेट में महाभियोग कार्रवाई का सामना करना पड़ा है. 1998 में बिल क्लिंटन को 'हाउस ऑफ़ रिप्रेजेंटेटिव्स में महाभियोग का सामना करना पड़ा था, लेकिन सीनेट में ऐसा नहीं हो सका और उनको अपना पद नहीं छोड़ना पड़ा. (भाषा इनपुट के साथ)

ये  भी पढ़ें : इमरान खान ने फिर उठाया कश्मीर मु्द्दा, ट्रंप बोले-मैं अब भी मदद के लिए तैयार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 8:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर