लाइव टीवी

इमरान सरकार ने पीओके के अस्पतालों को भेजीं इस्तेमाल की हुई पीपीई किट, सीएम बोले, 'बहुत शर्मनाक'


Updated: May 20, 2020, 5:51 PM IST
इमरान सरकार ने पीओके के अस्पतालों को भेजीं इस्तेमाल की हुई पीपीई किट, सीएम बोले, 'बहुत शर्मनाक'
बाराबंकी में एक साथ आए 95 कोरोना संक्रमित मरीज (फाइल फोटो

इस मामले में पीओके (PoK) के मुख्यमंत्री ने कड़ी नाराजगी जताते हुए इस संबंध में ट्वीट किया. इसमें उन्‍होंने एजेके के अस्पतालों में मिलिट्री से करीब तीन लाख पीपीई किट आने की बात कही. वहीं यह भी कहा कि यहां के अस्पतालों को जो किट मुहैया कराई गई हैं वह पहले से ही इस्‍तेमाल की हुई हैं.

  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था बदहाल है. इसका एक हालिया उदारहण सामने आया. मजुफ्फराबाद (Muzaffarabad) स्थित शेख खलीफा बिन जायद कंबाइंड मिलिट्री हॉस्पिटल (Sheikh Khalifa Bin Zaid Combined Military Hospital) को कोरोना महामारी के मद्देनजर जो पीपीई (PPE) किट दी गईं, वह पहले से इस्तेमाल की जा चुकी थीं. यह बात इन किट और मास्‍क पर लगे दागों को देख कर और स्‍पष्‍ट हो जाती है. देश में कोरोना महामारी के बाद से स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था चरमरा गई है.

वहीं इस मामले में पीओके (PoK) के मुख्यमंत्री ने कड़ी नाराजगी जताते हुए इस संबंध में ट्वीट किया. इसमें उन्‍होंने एजेके के अस्पतालों में मिलिट्री से करीब तीन लाख पीपीई किट आने की बात कही. वहीं यह भी कहा कि यहां के अस्पतालों को जो किट मुहैया कराई गई हैं वह पहले से ही इस्‍तेमाल की हुई हैं. उन्‍होंने इस बाबत कहा कि 'इन किट और कुछ मास्क पर लाल रंग के दाग लगे थे, जिन्‍हें लैब में टेस्ट के लिए भेजा गया. इसके बाद जो रिपोर्ट आई उसमें पता चला कि ये पान के दाग हैं.'

इससे पहले नकली टेस्टिंग मशीन भिजवाई
आगे इस बारे में आगे लिखा, 'हमारे अस्पताल के प्रोटोकॉल के मुताबिक इन इस्‍तेमाल की गई सभी पीपीई किट को फौरन नष्ट कर दिया गया, ताकि इनसे कोरोना का संक्रमण न फैले. उन्‍होंने आरोप लगाया कि यह बहुत ही शर्मनाक है कि इससे पहले यहां नकली टेस्टिंग मशीन भिजवाई गईं और अब यह मामला सामने आया है.' ऐसे में इस तरह की खबरें पहले भी आती रही हैं, जिनमें पाकिस्तान की केंद्रीय सरकार का रवैया पीओके और गिलगित बाल्टिस्तान के लोगों के साथ भेदभाव भरा रहा है.



गौरतलब है कि पाकिस्‍तान में इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब प्रांतों की ओर से इस तरह के आरोप लगाए गए हैं. पाकिस्‍तान में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं बदहाल हैं. कभी वैक्‍सीन की कमी सामने आती है, तो कभी मास्‍क और पीपीई किट की. हालांकि यह दावा किया जाता रहा है कि देश में कोरोना के मद्देनजर इसकी रोकथाम को पूरी व्‍यवस्‍था की गई है, मगर अक्‍सर डॉक्‍टर ही इसकी कमी से जूझते और इसको मुहैया कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन करते नजर आते हैं.



ये भी पढ़ें -पोर्न वीडियो बेच रहे पाकिस्तानी को सजा, साढ़े 6 लाख से ज्‍यादा वीडियो बरामद

               PAK : मस्जिद में इबादत कर रहे बच्‍चे के यौन शोषण की कोशिश, आरोपी गिरफ्तार

 
First published: May 20, 2020, 5:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading