PAK पीएम इमरान को सता रहा डर, फिर से सर्जिकल स्ट्राइक कर सकता है भारत

भारत से दवाएं मंगाने को लेकर इमरान खान सरकार पर आरोप लग रहे हैं.

भारत से दवाएं मंगाने को लेकर इमरान खान सरकार पर आरोप लग रहे हैं.

हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नायकू (Riyaz naikoo) की मौत के बाद अब पाकिस्तानी (Pakistan) पीएम इमरान खान (Imran Khan) को फिर से सर्जिकल स्ट्राइक का डर सताने लगा है.

  • Share this:
इस्लामाबाद. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में आतंक के पोस्टर बॉय बुरहान वानी (Burhan Wani) की जगह लेने वाले हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नायकू (Riyaz naikoo) की मौत के बाद अब पाकिस्तानी (Pakistan) पीएम इमरान खान (Imran Khan) को फिर से सर्जिकल स्ट्राइक का डर सताने लगा है. इमरान ने ट्वीट कर भारत पर आरोप लगाया है की जम्मू-कश्मीर में जारी भारतीय सेना के ऑपरेशन के बाद इस बात की पूरी आशंका है कि पाकिस्तान के खिलाफ छद्म युद्ध शुरू हो सकता है.



इमरान ने ट्विटर पर लिखा, 'दक्षिण एशिया में शांति एवं सुरक्षा को भारत द्वारा जोखिम में डाले जाने से पहले अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अवश्य ही कार्रवाई करनी चाहिए.' कश्मीर में आतंकियों की हालिया हिंसा को इमरान ने स्थानीय घटना करार दिया और कहा कि उसमें पाक की कोई भूमिका नहीं है.' इमरान खान ने बुधवार को दावा किया कि भारत मौजूदा तनाव का इस्तेमाल कर (सीमा पार से आतंकवादियों की) घुसपैठ के बहाने उनके देश के खिलाफ छद्म अभियान छेड़ सकता है.



 

भारत के कार्रवाई करने से पहले ही घबराया पाकिस्तानदरअसल, भारत ने कहा था कि कश्मीर में अशांति के पीछे पाकिस्तान का हाथ है जिस पर दोनों देशों के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. इमरान का दावा है कि कश्मीर में जारी हिंसा भारत का स्थानीय मुद्दा है और पकिस्तान का इससे कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने एक बार फिर से भारत की सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी पर उन नीतियों पर चलने का आरोप लगाया है ,जो दक्षिण एशिया में शांति को जोखिम में डाल सकती हैं. उधर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज प्रमुख एवं विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ ने भी भारत पर निशाना साधते हुए कहा, 'भारत द्वारा आतंकवादी शिविरों का आरोप लगाये जाने का मतलब पाकिस्तान के खिलाफ दुष्प्रचार को बढ़ाना है.'
ऑपरेशन जैकबूट में मारे गए कई बड़े आतंकी



बताया जाता है कि जम्मू-कश्मीर में NSA अजीत डोभाल के नेतृत्व में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जैकबूट चलाया जा रहा है. चार साल पहले दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा, कुलगाम, अनंतनाग और शोपियां जिलों को आतंकियों की ओर से 'आजाद इलाका' घोषित कर दिया गया था जिसके बाद इस ऑपरेशन की शुरुआत हुई. बुरहान वानी के ग्रुप में सबजार भट्ट, वसीम माला, नसीर पंडित, इशफाक हमीद, तारिक पंडित, अफाकुल्लाह, आदिल खांडे, सद्दाम पद्दार, वसीम शाह और अनीस जैसे कई कश्मीरी युवा थे. हालांकि अब इनमें से ज्यादातर मारे जा चुके हैं. ऑपरेशन के तहत मार गिराए जाने वाले आतंकवादियों की लिस्ट में बुरहान के इन 10 साथियों को भी शामिल किया गया जो वायरल हुई तस्वीर में भी नहीं दिखे थे.



ये भी पढ़ें :-



चेतावनी: 5 दिनों में कोरोना के 10 हजार से ज्यादा मामले, अगले 4 हफ्ते होंगे खतरनाक



बड़ी कामयाबी: इस पालतू जानवर में मिली कोरोना से लड़ने वाली एंटीबॉडी



किम जोंग का हमशक्ल अकेला नहीं, ये बड़े लीडर भी रखते रहे डुप्लीकेट



जानें कौन से देशों की इकोनॉमी शराब की बिक्री पर करती है ज्‍यादा निर्भर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज