लाइव टीवी

पाकिस्तान : खतरे में इमरान खान की सरकार! मौलाना बोले- दिन गिनना शुरू कर दें

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 8:44 AM IST
पाकिस्तान : खतरे में इमरान खान की सरकार! मौलाना बोले- दिन गिनना शुरू कर दें
पाकिस्तान की कथित सबसे बड़ी धार्मिक पार्टी के मुखिया एक मौलाना ने पाकिस्तान में तख्तापलट के लिए मुहिम छेड़ दी है

जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान (Maulana Fazlur Rehman) ने पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को सत्ता से हटाने का इशारा किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 8:44 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में इमरान खान (Imran Khan) सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान (Maulana Fazlur Rehman) ने इमरान खान को सत्ता से हटाने का इशारा किया है. रहमान ने कहा है कि पाकिस्तान के हुक्मरान को अब अपने दिन गिनने शुरू कर देने चाहिए. उन्होंने इशारों ही इशारों में ये संदेश देने की भी कोशिश की कि वह इस्लामाबाद से ऐसे ही वापस नहीं लौटे हैं.

गौरतलब है कि जेयूआई-एफ के हजारों कार्यकर्ताओं ने देशभर से आजादी मार्च निकाला था और इस्लामाबाद पहुंचे थे. इसके बाद उन्होंने 31 अक्टूबर से 13 नवंबर तक इमरान खान के इस्तीफ की मांग करते हुए धरना भी दे दिया था. धरना समाप्त करने के बाद अब जेयूआई-एफ के कार्यकर्ता लौट रहे हैं लेकिन अब उन्होंने अपने शांति मार्च को आंदोलन में तब्दील कर दिया है. पाकिस्तान के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शन और मार्ग अवरुद्ध किए जाने की खबर आ रही है.

Pakistan, Imran Khan, Maulana Fazlur Rehman, Islamabad, Independence March
जमीयत उलेमा ए इस्लाम फ़ज्ल (जेयूआई-एफ) के नेता मौलाना फजलुर रहमान.


मौलाना फजुलर रहमान ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बनू में एक कार्यक्रम में कहा, इमरान खान सरकार की जड़ें कट चुकी हैं. अब इन लोगों को अपने दिन गिनने शुरू कर देने चाहिए. हम इस्लामाबाद बिना किसी वजह के नहीं गए थे. उन्होंने कहा कि अगर वह वहां से वापस लौटे हैं तो कुछ बड़ा होने वाला है. उन्होंने इमरान खान सरकार पर आरोप लगाया है कि देश चलाने के लिए उनके पास कोई नजरिया नहीं है. सत्ता में बैठे लोगों के बाद विरोधियों को गाली देने के अलावा कुछ नहीं है. ये लोग वोट की चोरी कर सत्ता में आए हैं. हम इसकी इजाजत नहीं दे सकते हैं. हम पाकिस्तान के संविधान की रक्षा के लिए निकले हैं.

इसे भी पढ़ें :- इमरान खान के इस्तीफे की मोहलत खत्म, फजलुर रहमान ने बुलाई विपक्षी दलों की सर्वदलीय बैठक

बता दें कि प्रधानमंत्री इमरान खान एक कार्यक्रम में मौलाना फजल के बारे में कहा था कि कुछ लोग पैसे लेकर मार्च निकालने निकले हैं. उन्होंने इस्लामाबाद के धरने को सर्कस करार दिया था. इमरान खान के इस बयान के बाद मौलाना ने कहा, हम किसी के पीछे छिपने वालों में से नहीं हैं. हम मैदान में खड़े हैं. आओ अपने और मेरे चरित्र का मुकाबला करो. उन्होंने कहा कि केवल बातों से सरकार नहीं चलाई जा सकती. इस समय पाकिस्तान के जो हालात है उससे देखने से लगता है कि देश को दोबारा चुनाव की ओर बढ़ना चाहिए.
इसे भी पढ़ें :- फिर बढ़ सकती है इमरान की मुसीबत, फजलुर्रहमान ने देशभर में प्रदर्शन का आह्वान किया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 8:19 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर