पाकिस्तान में रोटी-नान सस्ती करने के लिए इमरान सरकार ने लिया यह फैसला

नकदी संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार के गैस दरों को बढ़ाने के फैसले का चौतरफा विरोध हुआ था.

भाषा
Updated: August 1, 2019, 8:03 AM IST
पाकिस्तान में रोटी-नान सस्ती करने के लिए इमरान सरकार ने लिया यह फैसला
नकदी संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार के गैस दरों को बढ़ाने के फैसले का चौतरफा विरोध हुआ था.
भाषा
Updated: August 1, 2019, 8:03 AM IST
पाकिस्तान में रोटी और नान की कीमतें कम करने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार ने सड़क किनारे वाले तंदूरों के लिए गैस दरों में की गयी बढ़ोत्तरी को वापस ले लिया है. नकदी संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार के गैस दरों को बढ़ाने के फैसले का चौतरफा विरोध हुआ था.

पाकिस्तान विदेशी मुद्रा भंडार की कम आपूर्ति और गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है. इसी महीने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने पाकिस्तान को तीन वर्ष में छह अरब डॉलर का ऋण मुहैया कराने पर सहमति जतायी है. ताकि देश की अर्थव्यवस्था को सतत वृद्धि के रास्ते पर वापस लाया जा सके और लोगों की आजीविका का स्तर सुधारा जा सके.

पाकिस्तान में कई कड़े सुधार शुरू
पाकिस्तान ने कड़े आर्थिक सुधार शुरू किए हैं. इनमें पेट्रोल, गैस और अन्य आवश्यक खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ाए हैं. इसका सीधा असर आम आदमी पर पड़ा है.

प्रधानमंत्री खान की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक समन्वय समिति की बैठक में तंदूरों के लिए गैस की पुरानी दरों को लागू करने का निर्णय किया गया. यह निर्णय देशभर में नान और रोटियों की कीमत को कम रखने के लिए किया गया है.

नान की कीमतें बढ़ीं
मौजूदा समय में देश के विभिन्न शहरों में नान की कीमत 12 से 15 रुपये तक है, जबकि गैस और आटे का दाम बढ़ाए जाने से पहले नान की कीमत 8 से 10 रुपये के बीच थी.
Loading...

सरकार का कहना है कि देशभर में एक विस्तृत सर्वेक्षण कर यह सुनिश्चित किया जाएगा कि गैस दरों में कमी का लाभ लोगों तक पहुंचे.

ये भी पढ़ें-
पाकिस्तान के लोगों को लगा ‘तंदूरी चाय’ का चस्का

इस जानवर के दूध से बनता है दुनिया का सबसे महंगा पनीर, ये है कीमत
First published: July 31, 2019, 11:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...