लाइव टीवी

PoK की आज़ादी पर बोले इमरान खान- 'हम जनमत संग्रह के लिए तैयार'

News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 3:00 PM IST
PoK की आज़ादी पर बोले इमरान खान- 'हम जनमत संग्रह के लिए तैयार'
इमरान खान ने एक विदेशी समाचार संस्था को इंटरव्यू दिया है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत का जिक्र करते ही कश्मीर और अनुच्छेद-370 का राग छेड़ देते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 3:00 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने एक बार फिर कश्मीर (Kashmir) और अनुच्छेद 370 (Article 370) का राग अलापा है. जर्मन समाचार संस्था डाइचे वैले (DW) को दिए एक इंटरव्यू में इमरान खान ने कश्मीर मुद्दे पर भारत सरकार को घेरा. वहीं, चीन के उइगर मुस्लिम के साथ कई अन्य मुद्दों पर भी बात की. पाकिस्तानी पीएम ने DW से कहा, 'यह हकीकत है कि दुनिया ने कभी कश्मीर पर ध्यान नहीं दिया. हॉन्ग कॉन्‍ग प्रदर्शन को टीवी दिखा रहा है, लेकिन कश्मीर में जो हो रहा है उस पर कोई बात नहीं करता.'

यह पूछे जाने पर कि एक तरफ वह कश्मीर के लोगों की आजादी की वकालत करते हैं तो दूसरी ओर PoK में उठ रही आजादी की मांगों और विरोध प्रदर्शनों को रोकने की कोशिश करते हैं. इस पर इमरान खान ने कहा, 'कश्मीर के लोगों को फैसला करने दीजिए. पाकिस्तान जनमत संग्रह के लिए तैयार है. उन्हें खुद फैसला करने दीजिए कि वे पाकिस्तान के साथ रहना चाहते हैं या आजाद होना चाहते हैं. यूरोपीय यूनियन और जर्मनी भारत को रोक सकते हैं.'

पाक अधिकृत कश्मीर (POK) के बारे में इमरान खान ने दावा किया वहां तो सब कुछ ठीक है. इमरान ने कहा, 'हम ऑब्जर्वर्स की टीम कश्मीर में बुला सकते हैं. हमारे यहां ईमानदारी से इलेक्शन होते हैं, लेकिन भारत के हिस्से वाले कश्मीर में ऐसा नहीं है. वहां ना कोई जा सकता है, ना ही वहां की स्थितियां ठीक हैं.'

उइगर मुस्लिमों पर कही यह बात

इमरान से पूछा गया कि जब वह भारत के मुद्दों पर इतना विरोध करते हैं तो चीन के उइगर मुस्लिमों के मुद्दे पर चुप क्यों हो जाते हैं? इस पर इमरान ने कहा, 'भारत में जो हो रहा है उसकी तुलना चीन में उइगरों के साथ नहीं हो सकती है. दूसरा, चीन हमारा बहुत अच्छा दोस्त रहा है. उसने हमारी सरकार को विरासत में मिले आर्थिक संकट से निकालने में मदद की है. इसलिए हम चीन के साथ संवेदनशील मुद्दों पर निजी तौर पर बात करते हैं ना कि सार्वजनिक तौर पर.'

 

यह भी पढ़ें: ईरान के मंत्री ने कहा, भारत को तेहरान से अच्छा और भरोसेमंद दोस्त नहीं मिलेगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 10:33 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर