कश्मीर पर हर जगह मुंह की खाने के बाद अब जर्मनी के आगे गिड़गिड़ाया पाकिस्तान

भाषा
Updated: August 24, 2019, 10:48 AM IST
कश्मीर पर हर जगह मुंह की खाने के बाद अब जर्मनी के आगे गिड़गिड़ाया पाकिस्तान
मार्केल से बातचीत के दौरान इमरान ने कहा कि भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने का क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा.

जर्मनी (Germany) की चांसलर एंजेला मर्केल ने इमरान खान (Imran Khan) से तनाव कम करने और मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से हल करने की अहमियत को रेखांकित किया.

  • Share this:
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने शुक्रवार को जर्मनी (Germany) की चांसलर एंजेला मर्केल से कश्मीर मुद्दे पर फोन पर बातचीत की. बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने का क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा. इसलिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय की तत्काल कार्रवाई की जिम्मेदारी है. विदेश मंत्रालय के मुताबिक, मर्केल ने कहा कि जर्मनी हालात पर करीब से नज़र बनाए हुए है. उन्होंने तनाव कम करने और मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से हल करने की अहमियत को रेखांकित किया.

भारत ने अपना रुख दुनिया के सामने साफ कर दिया है

भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को साफ-साफ बता दिया है कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाना उसका अंदरूनी मामला है. साथ में उसने पाकिस्तान को असलियत स्वीकार करने की भी सलाह दी थी. विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी मालदीव के अपने समकक्ष अब्दुल्ला शाहिद को कश्मीर मुद्दे पर 'जानकारी' दी. उसने बताया कि कुरैशी ने मालदीव से क्षेत्र में शांति और स्थिरता के लिए तथा विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए रचनात्मक भूमिका निभाने की गुजारिश की.

मालदीव ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताया

शाहिद ने कुरैशी से कहा कि मालदीव मानता है कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के संबंध में भारत का फैसला उसका आंतरिक मामला है. माले में मालदीव के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि शाहिद ने टेलीफोन कॉल के लिए कुरैशी का शुक्रिया अदा किया और कहा कि पाकिस्तान तथा भारत, दोनों मालदीव के करीबी दोस्त हैं और द्विपक्षीय साझेदार हैं. शाहिद ने देशों के बीच मतभेदों को शांतिपूर्ण तरीके से सौहार्दपूर्ण माहौल में हल करने की अहमियत पर ज़ोर दिया. कुरैशी ने अपने जापानी समकक्ष तारो कोनो से भी टेलीफोन पर बातचीत की तथा कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की.

ये भी पढ़ें-सरकार के इस कदम से मज़दूरों के खाते में सीधे आएंगे पैसे!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 9:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...