खर्चा बचाने में जुटे इमरान खान, अमेरिकी दौरे पर नहीं लेंगे होटल, रहेंगे यहां...

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने किसी महंगे अमेरिकी होटल में ठहकर हजारों अमेरिकी डॉलर न खर्च करने का फैसला किया है.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 11:45 PM IST
खर्चा बचाने में जुटे इमरान खान, अमेरिकी दौरे पर नहीं लेंगे होटल, रहेंगे यहां...
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने किसी महंगे अमेरिकी होटल में ठहकर हजारों अमेरिकी डॉलर न खर्च करने का फैसला किया है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 11:45 PM IST
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को 21 जुलाई से तीन दिन के अमेरिकी दौरे पर जाना है. लेकिन आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने इस दौरे पर अपने खर्च को बचाने के लिए जुगाड़ू रास्ता निकाला है. उन्होंने तय किया है कि वह किसी महंगे अमेरिकी होटल में ठहकर हजारों अमेरिकी डॉलर खर्च करने के बजाए अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत के आधिकारिक दूतावास में ही रहेंगे.

डॉन न्यूज की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. इसके अनुसार, 'अमेरिका में पाकिस्तानी राजदूत असद मजीद खान के आवास पर रुकने से यात्रा पर होने वाले खर्च को कम किया जा सकता है. लेकिन यह विचार न तो अमेरिकी खूफिया एजेंसी (सीआईए) और न ही शहर के प्रशासन को पसंद आया है.'



वॉशिंगटन प्रशासन सुनिश्चित करता है प्रभावित न हो सामान्य जनजीवन
अमेरिका की सीआईए किसी अतिथि के अमेरिका पहुंचते ही उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ले लेती है. वहीं शहर प्रशासन यह सुनिश्चित करने का काम करता है कि उस वीआईपी के चलते शहर का परिवहन किसी तरह से प्रभावित न हो. वाशिंगटन में हर साल सैकड़ों वीआईपी आते हैं. इसमें कई देशों के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी शामिल होते हैं. ऐसे में अमेरिका की सरकार को यह सुनिश्चित करना होता है कि इससे किसी तरह से शहर के लोगों का सामान्य जीवन प्रभावित न हो.

इमरान खान को ट्रैफिक के बीच जाना पड़ेगा पाकिस्तानी दूतावास
पाकिस्तान के राजदूत वाशिंगटन के डिप्लोमेटिक एन्क्लेव में रहते हैं. वहीं पर भारत, तुर्की और जापान के साथ-साथ कम से कम एक दर्जन देशों के दूतावास बने हुए हैं. हालांकि डॉन की रिपोर्ट में कहा गया है कि यह आवास बहुत बड़ा नहीं है, ऐसे में अतिथियों से मिलने के लिए ट्रैफिक वाले समय पर व्यस्त मार्गों से होते हुए पाकिस्तानी पीएम को दूतावास तक जाना पड़ेगा. इसके अलावा इमरान खान के प्रोग्राम में अपने दल के साथ दूतावास के साथ-साथ अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो के आधिकारिक आवास पर भी जाना पड़ेगा.

पाकिस्तान इस दौरान भारी आर्थिक संकट से गुजर रहा है, ऐसे में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के इस फैसले को पाकिस्तानी की खराब आर्थिक हालत से जोड़कर देखा जा रहा है.
Loading...

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी मंत्री ने Video गेम के पायलट को असली समझ की तारीफ
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...