अमेरिकी दौरे में राष्ट्रपति ट्रंप से दो बार मिलेंगे पाकिस्तानी पीएम इमरान खान

ये इमरान खान (Imran Khan) की अमेरिका (America) की दूसरी यात्रा होगी. जुलाई में, इमरान ने ट्रंप (Donald Trump) के साथ एक बैठक की थी, जिसके दौरान उन्होंने कश्मीर (Kashmir) मुद्दे पर भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच "मध्यस्थ" करने की पेशकश की थी.

भाषा
Updated: September 13, 2019, 12:53 PM IST
अमेरिकी दौरे में राष्ट्रपति ट्रंप से दो बार मिलेंगे पाकिस्तानी पीएम इमरान खान
मरान खान (Imran Khan) को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के साथ दो बार मुलाकात का मौका मिल सकता है.
भाषा
Updated: September 13, 2019, 12:53 PM IST
संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के पहले सत्र में हिस्सा लेने के लिए इस माहिने के आखिर में अमेरिका (America) जा रहे पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के साथ दो बार मुलाकात का मौका मिल सकता है. जियो न्यूज की खबर में बताया गया है कि खान के कार्यक्रम के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच पहली मुलाकात दोपहर के भोजन पर होगी, जबकि दूसरी मुलाकात चाय पर होगी.

 इमरान  का ये पहला यूएनजीए सत्र होगा

खबर में कहा गया है कि अमेरिकी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री की होने वाली बैठकों के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया है. इमरान खान संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वें सत्र में भाग लेने के लिए 21 सितंबर को न्यूयॉर्क पहुंचेंगे. वह 27 सितंबर को यूएनजीए को संबोधित करेंगे. अगस्त 2018 में पद संभालने के बाद से यह उनका पहला यूएनजीए सत्र होगा. वो विश्व के अन्य नेताओं से मुलाकात करेंगे और उन्हें भारत द्वारा 5 अगस्त को कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म किये जाने के बाद कश्मीर में कथित तौर पर तनावपूर्ण स्थिति के बारे में भी अवगत करायेंगे.

ये इमरान खान की दूसरी अमेरिकी यात्रा होगी

ये इमरान खान की अमेरिका की दूसरी यात्रा होगी. जुलाई में, खान ने ट्रंप के साथ एक बैठक की थी, जिसके दौरान उन्होंने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच "मध्यस्थ" करने की पेशकश की थी. ट्रंप ने तब दावा किया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था. हालांकि, भारत सरकार ने राष्ट्रपति ट्रंप के आश्चर्यजनक दावे से इनकार किया था.

भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ा है तनाव 

गौरतलब है कि भारत ने अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त कर दिया और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया.  इस फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव और बढ़ गया. फैसले पर पाकिस्तान ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से स्पष्ट रूप से कहा है कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना उसका आंतरिक मामला है और पाकिस्तान को इस वास्तविकता को स्वीकार कर लेना चाहिए.
Loading...

ये भी पढ़ें: 

कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान ने मानी हार, गृह मंत्री ने कहा - दुनिया को साथ नहीं ला पाई इमरान सरकार

पाकिस्‍तान के विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री ने कहा- सभी आत्‍मघाती हमलावरों का कहीं न कहीं मदरसों से संबंध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 12:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...