इमरान खान की कुर्सी को खतरा? पाकिस्तान के विपक्षी दल करेंगे 'आजादी मार्च'

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पर आरोप है कि वह मौजूदा हालात को संभाल नहीं पा पर रहे हैं. REUTERS/Jonathan Ernst

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पर आरोप है कि वह मौजूदा हालात को संभाल नहीं पा पर रहे हैं. REUTERS/Jonathan Ernst

साल 2018 में हुये पकिस्तान के चुनाव को राजनीतिक दलों ने खारिज करने की मांग की थी.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) की एक मुख्य दक्षिणपंथी पार्टी ने गुरुवार को घोषणा की कि वह प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) की ‘अक्षम’ सरकार को अपदस्थ करने के लिए ‘आजादी मार्च’ शुरू करेगी.

पार्टी का आरोप है कि खान नकदी के संकट से गुजर रहे देश को आर्थिक संकट से बाहर निकाल पाने में असफल हैं.

मीडिया खबरों से जानकारी मिली है कि जमियत अलेमा-ए-इस्लाम-फज्ल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख मौलाना फज्लुर रहमान का यह फैसला मुख्य विपक्षी पार्टियों पीएमएल-एन और पीपीपी के फैसले के बाद आया है.



 दलों ने 25 जुलाई का चुनाव खारिज कर दिया था
यह दोनों पार्टियां प्रधानमंत्री खान को सत्ता से बाहर करने के लिए किसी ‘एकल संघर्ष’ के खिलाफ हैं और उन्होंने सभी पार्टियों का एक सम्मेलन बुलाकर आपसी समझ विकसित करने का निर्णय लिया है.

जेयूआईएफ के प्रमुख ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियों ने 25 जुलाई का चुनाव खारिज कर दिया था और ताजा चुनावों की मांग की थी.

यह भी पढ़ें:  फ्रांस की संसद में PoK के राष्ट्रपति के कार्यक्रम पर भारत ने लगवाई रोक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज