पाकिस्तान को बड़ा झटका, UNSC ने कहा- द्विपक्षीय रूप से हल किया जाए कश्मीर मुद्दा

पाकिस्तान को बड़ा झटका, UNSC ने कहा- द्विपक्षीय रूप से हल किया जाए कश्मीर मुद्दा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने बुधवार को कहा है कि इस मुद्दे को भारत और पाकिस्तान द्वारा द्विपक्षीय रूप से हल किया जाना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 7:45 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान. कश्मीर को हासिल करने की चाह करने वाले पाकिस्तान (Pakistan) को हर बार मुंह की खानी पड़ती है. इस बार फिर से कश्मीर घाटी का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की पाकिस्तान की कोशिशों को करारा झटका लगा है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने बुधवार को कहा है कि इस मुद्दे को भारत और पाकिस्तान द्वारा द्विपक्षीय रूप से हल किया जाना चाहिए. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा, 'संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आज की अनौपचारिक बैठक में तकरीबन सभी देशों ने कहा कि कश्मीर भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है. इस पर परिषद को ध्यान और समय व्यतीत नहीं करना चाहिए. अनौपचारिक बैठक बेनतीजा रही.'

पाकिस्तान ने परिषद को लिखे एक पत्र में कश्मीर पर चर्चा की मांग की थी. इस पर कुछ राजनयिकों ने कहा कि यह पाकिस्तान द्वारा 'मैच फिक्स' जैसा है, क्योंकि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 को खत्म हुए एक साल पूरा हुआ है और इसी वजह से पाकिस्तान अपने 'ऑल वेदर फ्रेंड' चीन की मदद से चर्चा करना चाहता था. इस बैठक की निगरानी करने वाले संयुक्त राष्ट्र के राजनयिक के अनुसार, इस बार पाकिस्तान और चीन को इंडोनेशिया का भी समर्थन हासिल था. हालांकि, बाद में वह कश्मीर को द्विपक्षीय तरीके से हल किए जाने पर सहमत हुआ. उन्होंने बताया कि यह एक अनौपचारिक बैठक थी, जो बंद दरवाजों के पीछे आयोजित की गई थी.

ये भी पढ़ें:- पाकिस्तान को बहला रहा तुर्की, कहा- कश्मीर मुद्दे में देगा साथ, दोनों देशों का एक ही लक्ष्य



सभी ने भारत का समर्थन किया
संयुक्त राष्ट्र के एक अन्य राजनयिक ने कहा कि उन्होंने बहुत ध्यानपूर्वक तारीख का चयन किया था लेकिन यह एक अदूरदर्शी कदम साबित हुआ, क्योंकि तकरीबन सभी ने भारत का समर्थन किया. पांच स्थायी देशों में से चार- अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और रूस ने मुद्दे का द्विपक्षीय तरीके से समाधान करने के लिए कहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज