अमेरिका में मां बेचती है खुद का दूध, कहा-इससे मेरे परिवार का खर्च निकल आता है

कोरोना काल में शिशु को स्तनपान कराने से पहले जानें ये बातें
कोरोना काल में शिशु को स्तनपान कराने से पहले जानें ये बातें

अमेरिका के फ्लोरिडा (Florida) में एक महिला ने अपना दूध (Mother Milk) लाखों रुपये में बेचकर लाखों रुपये की कमाई की. 32 वर्षीय इस महिला ने खुद का दूध बेचने के लिए ऑनलाइन इश्तेहार दिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 7:25 AM IST
  • Share this:
फ्लोरिडा. दुनिया में मां की ममता के किस्से गाए जाते हैं. मां की दूध की महत्ता की बात होती है. लेकिन यह सब अब बिकाऊ हो चुका है. जी हां! पिछले कुछ दशकों से किराए की कोख बिकने लगी. अब मां का दूध भी बिकने लगा. दरअसल, अमेरिका के फ्लोरिडा (Florida) में एक महिला ने अपना दूध (Mother Breast Feeding) लाखों रुपये में बेचकर लाखों रुपये की कमाई की. 32 वर्षीय इस महिला ने खुद का दूध बेचने के लिए ऑनलाइन इश्तेहार दिया. जूली डेनिस नाम की इस महिला ने पिछले साल अगस्त महीने में एक सरोगेसी (Sarogacy) के जरिये एक बच्चे को जन्म दिया. बच्चे के लिए तो उन्होंने एक जोड़े से लाखों रुपये कमाए ही थे लेकिन उसके बाद उन्होंने अपना दूध बेचना शुरू कर दिया. इस काम से भी उसने कई महीनों तक लाखों रुपये कमाए. दरअसल, बच्चा पैदा करने के छह महीने बाद फीडिंग की दरकार नहीं रही तब भी उन्हें दूध आ रहा था. ऐसे में उन्हें यह ख्याल आया कि उनका दूध किसी बच्चे के काम आ जाए और इसके बदले उन्हें पैसे भी मिल जाए.

प्रति औंस 90 सेंट दाम वसूलती हैं डेनिस

डेनिस एक प्राथमिक स्कूल में अध्यापक हैं. वे अपना दूध का दाम 90 सेंट प्रति औंस के बतौर वसूलती है. सामान्य तौर पर उनका दूध सरोगेट बच्चे के काम आता है क्योंकि सरोगेसी के जरिये बच्चों को दुनिया में लाने के बाद मांओं के लिए फीडिंग कराने की दिक्कत आती है. उन्हें दूध नहीं आता है. डेनिस कहती हैं कि यह एक नौकरी जैसा है, लेकिन उन्होंने कहा कि इस तरीके से पैसे कमाने को लेकर काफी लोगों से प्रतिक्रियाएं भी मिली हैं. दो बच्चों को सरोगेसी के जरिये जन्म दे चुकी डेनिस ने कहा है कि उनके पास एक अच्छा गर्भाशय है और पूरी तरह से अच्छा दूध है.



लोगों ने मेरे दूध पर छूट की मांग भी की थी
हालांकि, महिला ने कहा है कि यह पूरी तरह से पैसा कमाने जैसा नहीं है. लेकिन हां, मुझे यकीन है कि यह मेरे और मेरे परिवार के लिए पर्याप्त है. डेनिस ने कहा कि दूध लेते समय कई लोगों ने इस पर छूट की मांग भी की थी, क्योंकि उनको लगता है मेरे लिए ये दूध फ्री का है तो इसके लिए चार्ज क्यों लिया जा रहा है?

ये भी पढ़ें: थाईलैंड में राजशाही के खिलाफ तीन महीने से चल रहा है प्रदर्शन, आपातकाल की घोषणा 

उन्होंने कहा कि पंप के लिए मैं घंटों परिवार से दूर रहती हूं, क्योंकि दूध को तैयार करने में भी काफी समय लगता है. सफाई, बैगिंग और स्टरलाइज़ करने की प्रक्रिया भी बेहद समय लेने वाली है. डेनिस कहती है कि वो वह प्रति माह 15,000 औंस दूध पंप करती हैं, उसे अपने फ्रीज़र में स्टोर करती है और इसे आइस पैक से भरे आइस बॉक्स में देश भर में भेजती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज