लाइव टीवी

दुबई में मांगी नौकरी तो अधिकारी ने दिया जवाब- CAA के खिलाफ शाहीन बाग जाओ, खूब होगी कमाई

News18Hindi
Updated: January 27, 2020, 9:18 AM IST
दुबई में मांगी नौकरी तो अधिकारी ने दिया जवाब- CAA के खिलाफ शाहीन बाग जाओ, खूब होगी कमाई
CAA के खिलाफ शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन

दुबई की कंसल्टेंसी फर्म के सीनियर अधिकारी जयंत गोखले का ये ई-मेल (Mail) वायरल हो गया है. वहीं मैकेनिकल इंजीनियरिंग कर चुके अब्दुल्ला का कहना है कि वह इस मेल को देख कर हैरान हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कोई कैसे इस तरह की बातें लिख सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2020, 9:18 AM IST
  • Share this:
दुबई. केरल के एक युवक ने दुबई (Dubai) में नौकरी मांगी तो उसे अजीबोगरीब जवाब सुनने को मिला. कंपनी ने उन्हें सलाह दी कि वो नौकरी के बजाय दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh ) में जाकर प्रदर्शन करें. दक्षिणी दिल्ली के इस इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ करीब डेढ़ महीने से लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

ई-मेल हुआ वायरल
केरल के रहने वाले 23 साल के अब्दुल्ला एसएस ने मैकेनिकल इंजीनियर की पोस्ट के लिए एप्लीकेशन दिया था. दुबई के अखबार द गल्फ न्यूज़ के मुताबिक वहां एक कंसल्टेंसी फर्म के सीनियर अधिकारी जयंत गोखले ने ईमेल करते हुए लिखा, 'मैं सोच रहा था कि आपको नौकरी की क्या जरूरत है? दिल्ली जाओ और वहां शाहीन बाग में चल रहे धरने में शामिल हो जाओ. हर दिन आपको मुफ्त में एक हज़ार रुपये मिलेंगे. इसके अलावा मुफ्त में बिरयानी. चाय, खाना और मिठाइयां भी मिलेंगी.'

विवादित मेल


वायरल हुआ मेल
गोखले का ये ई-मेल वायरल हो गया है. हालांकि न्यूज़18 हिन्दी इस मेल की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है. वहीं गल्फ न्यूज़ के मुताबिक, अब्दुल्ला का कहना कि वह इस मेल को देखकर हैरान हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कोई कैसे इस तरह की बातें लिख सकता है. अब्दुल्ला ने कहा कि उसने इस मेल को कुछ दोस्तों के साथ शेयर किया था, जो बाद में वायरल हो गया. उन्होंने कहा कि वह इस पर किसी तरह का विवाद नहीं चाहते हैं. उन्हें बस नौकरी की जरूरत है. इस बीच सोशल मीडिया पर लोग गोखले के खिलाफ एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं. लोगों की दलील है कि वो धर्म के आधार पर नौकरी में भेदभाव कर रहे हैं.

गोखले की सफाईगल्फ न्यूज़ से बात करते हुए गोखले ने कहा कि वो बीमार हैं और उसके मेल को लोग जबरदस्ती का मुद्दा बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस मेल के जरिये उनका मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था, 'मैंने अबदुल्ला से पहले ही माफी मांग ली है'.

पैसे मिलने का दावा
बता दें कि पिछले दिनों बीजेपी के प्रवक्ता अमित मालवीय ने ट्वीट करते हुए दावा किया था कि शाहीन बाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन में लोगों को हर रोज़ 500 रुपये मिलते हैं. हालांकि उनके दावे को प्रदर्शन करने वालों ने सीरे से खारिज कर दिया था.

ये भी पढ़ें- नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी बोले- भारत को बेहतर विपक्ष की है जरूरत

बैंक या पोस्ट ऑफिस में निवेश कर भूल गए हैं आप, ऐसे पता लगाकर निकालें पैसा 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 8:41 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर