मिस्र में कोरोना को अमेरिकी अफवाह कहने वाले व्यक्ति की संक्रमण से मौत

मुहम्मद वाहिदान ने कहा था, भूख आपको नहीं मारेगी. अपने जीवन को जोखिम में न डालें. मिस्र में वायरस फैल रहा है. दुर्भाग्य से मेरे भाई-बहन भी मेरी वजह से संक्रमित हो गए हैं. कृपया मेरे लिए जल्द से जल्द वायरस से उबरने के लिए प्रार्थना करें.
मुहम्मद वाहिदान ने कहा था, भूख आपको नहीं मारेगी. अपने जीवन को जोखिम में न डालें. मिस्र में वायरस फैल रहा है. दुर्भाग्य से मेरे भाई-बहन भी मेरी वजह से संक्रमित हो गए हैं. कृपया मेरे लिए जल्द से जल्द वायरस से उबरने के लिए प्रार्थना करें.

मुहम्मद वाहिदान ने कहा था, 'भूख आपको नहीं मारेगी. अपने जीवन को जोखिम में न डालें. मिस्र में वायरस फैल रहा है. दुर्भाग्य से मेरे भाई-बहन भी मेरी वजह से संक्रमित हो गए हैं. कृपया मेरे लिए जल्द से जल्द वायरस से उबरने के लिए प्रार्थना करें.'

  • Share this:
काहिरा. हाल में मिस्र (Egypt) में एक ऐसे व्‍यक्ति की मौत हुई है जिसने कोरोना (Corona virus) को अमेरिकी अफवाह कहा था. 'अरब न्यूज' की एक रिपोर्ट के मुताबिक पर्यटन क्षेत्र से जुड़े मुहम्मद वाहिदान ने कुछ महीने पहले फेसबुक पर अपने वीडियो संदेश में कोरोना वायरस को झूठ कहा था. उन्होंने कहा था कि अमेरिका (America) ने चीन (China) की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने के लिए वायरस (Virus) की अफवाह फैलाई है.

इसके अलावा मुहम्मद वाहिदान ने मिस्र के लोगों से कहा था कि वे देश की सामान्य स्थिति को बहाल रखें और जमाखोरी से बचें. वहीं हैरतअंगेज तौर पर मुहम्मद वाहिदान ने अपने वीडियो संदेश में कोरोना वायरस के खिलाफ एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए. हालांकि बाद में वह बीमार पड़ गए और वायरस का पता चलने के बाद उन्हें मिस्र के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

वीडियो पोस्ट कर की थी अपनी गलती स्वीकार
अस्पताल में भर्ती होने के दूसरे दिन उनकी हालत खराब हो गई, जिसके दौरान उन्होंने एक और वीडियो पोस्ट किया और अपनी गलती स्वीकार की. साथ ही लोगों से घर पर रहने का आग्रह किया था. उन्‍होंने कहा था, 'मुझे घर पर रहने के लिए कहा गया था, लेकिन मैंने ध्यान नहीं दिया, क्योंकि मैं एक दिखावटी जिंदगी खरीद रहा था. कृपया वायरस को हल्के में न लें, क्योंकि यह शरीर के अंगों को मारता है और नष्ट कर देता है.'
उन्‍होंने आगे कहा था, 'भूख आपको नहीं मारेगी. अपने जीवन को जोखिम में न डालें. मिस्र में वायरस फैल रहा है. दुर्भाग्य से मेरे भाई-बहन भी मेरी वजह से संक्रमित हो गए हैं. कृपया मेरे लिए जल्द से जल्द वायरस से उबरने के लिए प्रार्थना करें.' हालां‍कि मुहम्मद वाहिदान अपने पोस्ट किए गए आखिरी वीडियो में मुश्किल से बोल पा रहे थे. वहीं उनके एक दोस्त ने कहा कि वह एक खिलाड़ी थे और अच्छी सेहत के मालिक थे. उन्होंने आगे कहा कि मुहम्मद वाहिदान के पिता और भाई का अस्पताल में इलाज चल रहा है और उनकी हालत खतरे से बाहर है, लेकिन उन्हें अभी तक मुहम्मद वाहिदान की मौत के बारे में सूचित नहीं किया गया है.



इस संबंध में अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के उपाध्यक्ष मुहम्मद आलम ने कहा कि वाहिदान के वीडियो में भय और दर्द को देखा जा सकता है, क्योंकि वह लगातार दर्द और बुखार में थे. उन्‍होंने फेसबुक पर कहा, 'जरूरी नहीं कि हर किसी के साथ ऐसा हो. अक्‍सर हालात इससे कहीं ज्‍यादा खतरनाक होते हैं, जब दर्द और बुखार असहनीय हो जाते हैं. गौरतलब है कि मिस्र में कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक 11,000 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं, वहीं 600 लोग मारे गए हैं.

ये भी पढ़ें - कोलंबिया की कंपनी ने कोरोना मरीज़ों के लिए बनाया अनोखा 'कॉफिन कम बेड'

                ट्रंप का ऐलान- वापस लेंगे अरबों डॉलर के पेंशन फंड, चीनी स्टॉक मार्केट संकट में 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज