राफेल लेने पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों से की मुलाकात

राफेल लेने पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों से की मुलाकात
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुअल मैक्रों से मुलाकात की.

राफेल लड़ाकू जेट विमानों (Rafale Fighter Jet Aircraft) रिसीव करने फ्रांस पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) फ्रांस (France) के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) से भी मिले.

  • Share this:
पेरिस. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने मंगलवार को फ्रांस (France) के राष्ट्रपति एमेनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) से मुलाकात की और दोनों देशों के रक्षा एवं रणनीतिक संबंधों को मजबूत बनाने के बारे में चर्चा की. भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने फ्रांस से राफेल लड़ाकू जेट विमानों (Rafale Fighter Jet Aircraft) की खरीद की है. राजनाथ सिंह पहला राफेल भारत को आधिकारिक रूप से सौंपे जाने के कार्यक्रम के सिलसिले में फ्रांस आए हुए हैं.

फ्रांसीसी राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास एलिसी पैलेस में उनसे मुलाकात के दौरान सिंह ने फ्रांस को भारत का ‘‘महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदार’’ बताया.

फ्रांस आए मंत्री स्तरीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल रक्षा सचिव अजय कुमार ने कहा, ‘‘फ्रांस के साथ हमारे बहु-आयामी संबंध हैं और संबंध सभी मोर्चों पर आगे बढ़ रहे हैं. आज की बातचीत दोनों देशों के बीच व्यापक रक्षा चर्चा का हिस्सा है. ’’



मैक्रों से मुलाकात से पहले सिंह ने फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले के साथ बैठक की. इस बैठक में फ्रांस के राष्ट्रपति के रक्षा सलाहकार एडमिरल बरनर्ड रोजेल भी मौजूद थे.
IAF के स्थापना दिवस पर किया ट्वीट
आज वायुसेना का 87वां स्थापना दिवस भी है. इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, 'वायुसेना कर्मियों और उनके परिवारों को 87वें वायुसेना दिवस की शुभकामनाएं.'

इसमें उन्होंने कहा, 'भारतीय वायुसेना अभूतपूर्व पराक्रम, धैर्य, दृढ़ निश्चय तथा राष्ट्र की उत्तम सेवा का चमकता उदाहरण है. नीली वार्दी वाले ये कर्मी आसमान छूने में सक्षम हैं.'

2016 में हुआ था राफेल का सौदा
भारत ने सितंबर 2016 में फ्रांस से 59,000 करोड़ रुपए में 36 राफेल लड़ाकू जेट का सौदा किया था. हालांकि राफेल सौंपने का आधिकारिक समारोह इस हफ्ते हो रहा है लेकिन राफेल विमानों की पहली खेप मई 2020 में ही मिल पाएगी. सभी 36 विमान सितंबर 2022 तक भारत को मिल जाएंगे.

ये भी पढ़ें-
जानिए किन हथियारों से दुश्मन पर हमला बोलने में सक्षम राफेल जेट!

Air Force Day: सचिन तेंदुलकर पत्नी अंजलि के साथ पहुंचे हिंडन एयरफोर्स स्टेशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज