म्यांमार में नहीं थम रहा लोगों का गुस्सा, यंगून में सैन्य तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन

देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मंडाले समेत अन्य शहरों और कस्बों में भी लोगों को प्रदर्शन किया.

देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मंडाले समेत अन्य शहरों और कस्बों में भी लोगों को प्रदर्शन किया.

Protest in Myanmar: देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मंडाले समेत अन्य शहरों और कस्बों में भी लोगों को प्रदर्शन किया. मांडले में बौद्ध भिक्षुओं ने मार्च निकाला जबकि दवेई में इंजीनियरों, शिक्षकों, विश्वविद्यालय के छात्रों और एलजीबीटीक्यू समूहों के सदस्यों ने प्रदर्शन किया.

  • Share this:

बैंगकॉक. म्यांमार के सबसे बड़े शहर यंगून में बृहस्पतिवार को लोगों ने सैन्य शासन के खिलाफ संक्षिप्त विरोध मार्च निकाला, जिसमें अधिकतर युवा शामिल हुए. लगभग पांच मिनट के इस मार्च में करीब 70 प्रदर्शनकारियों ने सविनय अवज्ञा आंदोलन के समर्थन में नारेबाजी की.

उनका यह मार्च फरवरी में आंग सान सू ची की चुनी हुई सरकार का तख्तापलट कर सैन्य शासन स्थापित किये जाने के खिलाफ था. तख्तालट के तत्काल बाद बड़ी संख्या में लोगों ने सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया था.

म्यांमार में लोग कर रहे हैं लगातार प्रदर्शन

देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मंडाले समेत अन्य शहरों और कस्बों में भी लोगों को प्रदर्शन किया. मांडले में बौद्ध भिक्षुओं ने मार्च निकाला जबकि दवेई में इंजीनियरों, शिक्षकों, विश्वविद्यालय के छात्रों और एलजीबीटीक्यू समूहों के सदस्यों ने प्रदर्शन किया.
ये भी पढ़ेंः- हवा में उड़ते ही एयर एंबुलेंस का पहिया गिरा, यूं बची 5 लोगों की जान...देखें VIDEO

सेना ने आठ और प्रदर्शनकारियों को मार डाला

म्यांमार में सैन्य तानाशाही के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर यहां की सेना ने सोमवार को फिर से गोलियां चलाईं जिसमें आठ लोग मारे गए. दूसरी ओर लोकतंत्र समर्थकों ने वैश्विक स्तर पर म्यांमार स्प्रिंग रिवॉल्यूशन नाम से प्रदर्शन अभियान आयोजित करना शुरू कर दिया ताकि पूरी दुनिया हालात से अवगत हो.




म्यांमार के कई शहरों में एक साथ प्रदर्शन हुए, जिनमें से कुछ का नेतृत्व बौद्ध भिक्षु कर रहे हैं. इसी दौरान मांडले में प्रदर्शन  कर रहे लोगों पर गोली चला कर दो नागरिकों को मार दिया. वेटलेट में तीन और शान नामक राज्य के विभिन्न शहरों में भी दो लोगों की सेना ने गोली मार दी. अब तक यहां सेना ने 759 नागरिकों की हत्या कर दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज