Home /News /world /

यूके में अब जल्द डिस्चार्ज हो रहे कोरोना मरीज, क्या कोरोना के अंत की शुरुआत है ओमिक्रॉन? जानें

यूके में अब जल्द डिस्चार्ज हो रहे कोरोना मरीज, क्या कोरोना के अंत की शुरुआत है ओमिक्रॉन? जानें

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट /फोटो-सांकेतिक

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट /फोटो-सांकेतिक

यूके का सरकारी आंकड़ा बताता है कि 4 जनवरी तक 17,988 लोग अस्पताल में भर्ती थे. यह आंकड़ा पिछले साल फरवरी की तुलना में ज्यादा है, लेकिन जनवरी 2021 में पीक के दौरान 40,000लोगों की तुलना में काफी नीचे है.

लंदन. क्या ओमिक्रॉन (Omicron) को हम कोरोना (Covid-19) के अंत की शुरुआत कह सकते हैं. यह कहना भले अभी जल्दबाजी हो, लेकिन ओमिक्रॉन (Omicron) के फैलने के साथ कुछ अच्छी खबर भी आ रही हैं. यूके (UK) में 80 की उम्र वाले लोगों की अस्पताल में रुकने की अवधि ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (National Health Service) को बड़ी राहत दी है. आंकड़े बताते हैं कि तीसरी लहर के दौरान पिछले साल 1 मई से 80 पार के लोगों की अस्पताल में रुकने की अवधि औसतन 11 दिन थी. वहीं 1 दिसंबर के बाद से जब से ओमिक्रॉन (Omicron) की लहर ने दस्तक दी है, अस्पताल में रुकने की अवधि घटकर आधी रह गई है.

ऐसा हालांकि, सिर्फ 80 की उम्र के साथ नहीं है, चाहे बात 50 से 69 के उम्र समूह की हो या 70 से 79 उम्र समूह की. वहां भी यही स्थिति देखी गई है. इससे अच्छी बात यह है कि जो लोग 50 के नीचे उम्र वाले हैं, वह अस्पताल में 3 से 4 दिन में ही ठीक हो रहे हैं. दिसंबर में तेजी से होने वाली रिकवरी के पीछे वैक्सीन (Vaccine) और दवा का असर और ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Varient) का हल्का होना माना जा रहा है. मेल ऑनलाइन (Mail Online) के आकलन के मुताबिक, कोविड (Covid-19) से मरने वालों की दर में 24 गुना कमी देखने को मिली है. यह घटकर 0.15% रह गई है. इस संबंध में दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य विशेषज्ञों का भी यही मानना है कि मरीजों के अस्पताल में रुकने की अवधि घटी है. वहां हुए एक अध्ययन के मुताबिक यह ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Varient) पिछले अन्य वेरिएंट की तुलना में 10 गुना कम घातक है. यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंजिला में मेडिसिन के प्रोफेसर पॉल हंटर का कहना है कि यूके में वेरिएंट ठीक वैसा ही बर्ताव कर रहा है, जैसा दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में देखने को मिला था.

यूके में रोजाना आने वाले मामलों में पहली बार 5% साप्ताहिक गिरावट
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं कि यूके में पिछले 24 घंटों में करीब 179,756 पॉजिटिव टेस्ट दर्ज किए गए, जो पिछले हफ्ते की तुलना में 5% कम था. इससे यह जाहिर होता है कि ओमिक्रॉन की लहर अब सर्पिलाकार नहीं रही है. इसी तरह हाल ही में मिले अस्पताल के आंकड़े बताते हैं कि यूके में 2 जनवरी को करीब 2078 मरीज आए थे, जो एक हफ्ते पहले से 3% कम था, इसी तरह 231 मौतें दर्ज की गईं, जो उससे पहले हफ्ते से 30% कम थीं. इसी तरह लंदन जहां ओमिक्रॉन (Omicron) का कहर सबसे ज्यादा बरपा था, वहां भी अस्पतालों में दाखिले की दर में हफ्ते में 19 फीसद की गिरावट देखने को मिली है. यह गिरावट दिन पर दिन लगातार देखी जा रही है. पिछले साल जनवरी में पीक के दौरान जहां रोजाना 900 से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे थे वहीं इस साल जनवरी में यही आंकड़ा 400 के करीब है.

हालांकि 60 से ऊपर उम्र वालों औऱ कमजोर इम्यूनिटी वालों को लेकर चिंता अभी भी बनी हुई है. इसी तरह एक और आशा की किरण ZOE कोविड लक्षणों के अध्ययन में देखने को मिलती है, जिससे पता चलता है कि 3 जनवरी तक 20,8471 लोग रोजाना कोविड (Covid) के घेरे में आ रहे थे, जिसमें कमी आ रही है और यह कमी 18 से 35 वर्ष के उम्र समूह में देखने को मिल रही है, इसी वजह से लंदन में आंकड़े तेजी से नीचे आ रहे हैं.अब जब स्थिति नियंत्रण में आ रही है तो यूके में आइसोलेशन अवधि को कम करने पर विचार किया जा रहा है. क्योंकि ओमिक्रॉन (Omicron) के मामलों में 7 दिन के भीतर लोग ठीक हो रहे हैं. लेकिन साथ ही इस बात पर जोर डाला जा रहा है कि ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन लगवाएं और सुरक्षा के मानकों पर ध्यान दें.

सरकारी आंकड़ा और दूसरे आंकड़े
यूके का सरकारी आंकड़ा बताता है कि 4 जनवरी तक 17,988 लोग अस्पताल में भर्ती थे. यह आंकड़ा पिछले साल फरवरी की तुलना में ज्यादा है, लेकिन जनवरी 2021 में पीक के दौरान 40,000 लोगों की तुलना में काफी नीचे है. किंग्स कॉलेज, लंदन (Kings College, London) के वैज्ञानिकों का अनुमान है कि 3 जनवरी के आंकड़े बताते हैं कि 33,013 लोग संक्रमित हुए, वहीं इससे पिछले हफ्ते यही आंकड़ा 49,331 था. हालांकि डॉ. क्लेयर स्टीव्स जो डेटा साइंस कंपनी ZOE के लिए काम करती हैं उनका कहना है कि मामलों में तो कमी आई है, लेकिन अभी इसे पीक कहना जल्दबाजी होगी. उनका कहना है कि अभी स्कूल खोलना फिर से प्रकोप को दावत दे सकता है.

लंदन में ओमिक्रॉन का पीक आ गया:रिसर्च
यूके के सबसे बड़े लक्षण ट्रेकिंक ऐप के मुताबिक लंदन में एक महीने बाद ओमिक्रॉन (Omicron) से जुड़े मामलों में गिरावट देखने को मिली है. लगातार चौथे दिन अस्पतालों में दाखिलों में कमी आई है. लक्षणों का अध्ययन करने वाले किंग्स कॉलेज (Kings College) के वैज्ञानिकों का अनुमान है कि 3 जनवरी तक राजधानी में रोजाना 33,000 लोग पॉजिटिव मिले जो इस हफ्ते से पहले के मुकाबले कम हैं. सरकारी डेशबोर्ड बताता है कि लंदन में मामले पर स्थिर हो रहे हैं अब रोजाना के मामलों की संख्या 21,854 रह गई हो जो हफ्ते में 11% की कमी दर्शाता है. UKHSA की साप्ताहिक रिपोर्ट बताती है कि 2 जनवरी तक प्रति सप्ताह आने वाले मामलों पर नजर डालें तो प्रति लाख 1833.9 से घटकर मामले 1723.8 हुए हैं. आंकड़े बताते हैं कि एक वक्त 15% रोजाना की दर से मामलों में बढ़ोतरी हो रही थी, जिसमें अब प्रतिदिन 1 से 2% की कमी देखने को मिल रही है. कुल मिलाकर यह एक उम्मीद की किरण तो है,लेकिन साथ ही यह याद रखना भी ज़रूरी है कि उम्मीद हमें कहीं फिर से लापरवाह न कर दे, नहीं तो स्थितियां बिगड़ते देर नहीं लगेगी.

Tags: COVID 19, Omicron, UK

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर