लाइव टीवी

भारत आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए भविष्य में उठा सकता है कठोर कदम: निर्मला सीतारमण

भाषा
Updated: October 21, 2018, 3:47 AM IST
भारत आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए भविष्य में उठा सकता है कठोर कदम: निर्मला सीतारमण
फाइल फोटो

सिंगापुर में आसियान देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि निकटस्थ पड़ोस में आतंकी ढांचों की मौजूदगी और आतंकवादियों को मिलने वाले समर्थन ने भारत के सब्र की परीक्षा ली है.

  • Share this:
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने पाकिस्तान द्वारा पोषित सीमा पार आतंकवाद पर करार वार किया है. उन्होंने शनिवार को कहा है कि भारत आतंकवाद को और नहीं बर्दास्त करेगा. आतंकी समूहों और उनके संरक्षकों की गतिविधियों को रोकने के लिए भारत ने कई प्रयास किये हैं. साथ यह चेतावनी भी दी कि अगर जरूरत पड़ी तो भारत कठोर कदम उठाने से भी नहीं हिचकेगा.,

सिंगापुर में आसियान देशों के रक्षा मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि निकटस्थ पड़ोस में आतंकी ढांचों की मौजूदगी और आतंकवादियों को मिलने वाले समर्थन ने भारत के सब्र की परीक्षा ली है और एक जिम्मेदार शक्ति के तौर पर उसने इस खतरे से निपटने में काफी संयम दिखाया है.

नई दिल्ली में रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक उन्होंने कहा है कि हालांकि भारत ने आतंकी संगठनों और उनके संरक्षकों की गतिविधियों को बाधित करने और उसपर लगाम लगाने के उपायों का प्रदर्शन किया है और भविष्य में अगर जरूरत पड़ी तो ऐसा फिर से करने में नहीं हिचकेगा.

ये भी पढ़ें: ASEAN : फिलीपीन में निर्मला सीतारमण ने की रक्षा मंत्रियों से मुलाकात

सीतारमण ने आतंकवाद के खतरे की वजह से अंतरराष्ट्रीय शांति और स्थायित्व को मिलने वाली व्यापक चुनौतियों को लेकर भारत की चिंताओं पर जोर दिया है.

ये भी पढ़ें: यूपी में डिफेंस कॉरिडोर के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अहम घोषणा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2018, 3:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर