'भारत और चीन साथ आ जाएंं तो कर सकते हैं डोनाल्ड ट्रंप का मुकाबला'

हिंदुजा समूह के को-चेयरमैन जीपी हिंदुजा ने कहा कि वह चीन में अधिक निवेश करना चाहते हैं और चीन-भारत-ब्रिटेन का त्रिपक्षीय संबंध बढ़ाना चाहते हैं.

News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 6:07 AM IST
'भारत और चीन साथ आ जाएंं तो कर सकते हैं डोनाल्ड ट्रंप का मुकाबला'
भारतीय मूल के ब्रिटिश उद्योगपति जीपी हिंदुजा ने कहा कि भारत-चीन मिलकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संरक्षणवाद का सामना कर सकते हैं. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 6:07 AM IST
भारत और चीन विश्व के सबसे करीबी भागीदार बन सकते हैं. साथ ही दोनों मिलकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संरक्षणवाद का मुकाबला कर सकते हैं. भारतीय मूल के ब्रिटिश उद्योगपति गोपीचंद परमानंद हिंदुजा ने ये बातें कही. हिंदुजा समूह के को-चेयरमैन जीपी हिंदुजा ने कहा कि वह चीन में अधिक निवेश करना चाहते हैं और चीन-भारत-ब्रिटेन का त्रिपक्षीय संबंध बढ़ाना चाहते हैं.

हिंदुजा ने मंगलवार को चीन के एक कारोबारी प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा, "जिस तरीके से हमने चीन में निवेश किया है, मैं उससे खुश नहीं हूं. हालांकि, चीन में हमारे चार बड़े वेंचर हैं. मैंने अपने लोगों को चीन पर अधिक ध्यान देने को कहा है, क्योंकि एशिया ही भविष्य है."

हिंदुजा ने कहा, "चीन और भारत दोनों मिलकर सबसे ताकतवर भागीदार बन सकते हैं. मैं ब्रिटिश हूं, लेकिन दिल से भारतीय हूं. ब्रिटेन और चीन के संबंध अच्छे हैं, लेकिन इसमें और संभावनाएं हैं. लिहाजा हमारे दरवाजे भारत-चीन, चीन-ब्रिटेन और वृद्धि के अन्य अवसरों के लिये खुले हुए हैं."

जीपी हिंदुजा ने भारत और चीन के साथ आने की वकालत की - GP Hinduja advocated to China and India work together
जीपी हिंदुजा ने कहा, मैं ब्रिटिश हूं लेकिन दिल से हिंदुस्तानी हूं.


जीपी हिंदुजा ने बताया कि उनके पोते स्वेच्छा से मंदरिन (चीनी) भाषा पढ़ रहे हैं. इससे चीन के प्रति उनके परिवार की प्रतिबद्धता का पता चलता है.

ये भी पढ़ें: ट्रंप ने अमेरिका को महान बनाए रखने की खाई कसम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...