भारत-चीन में तनाव के बीच पाकिस्तान सेना प्रमुखों और ISI की ख़ुफ़िया मीटिंग

भारत-चीन में तनाव के बीच पाकिस्तान सेना प्रमुखों और ISI की ख़ुफ़िया मीटिंग
पाकिस्तान में भारत-चीन हिंसक झड़प के बाद आर्मी चीफ की अहम मीटिंग हुई.

गलवान घाटी में हिंसक झड़प (India-China Rift) के बाद पाकिस्‍तान (Pakistan) और उसकी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI भी एक्टिव नज़र आ रहे हैं. भारत-चीन की झड़प के बाद मंगलवार देर शाम खुफिया एजेंसी आईएसआई के मुख्‍यालय में करीब दो सा‍ल बाद तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने एक ख़ुफ़िया मीटिंग की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 17, 2020, 12:42 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हिंसक झड़प (India-China Rift) के बाद पाकिस्‍तान (Pakistan) और उसकी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI भी एक्टिव नज़र आ रहे हैं. भारत-चीन की झड़प के बाद मंगलवार देर शाम खुफिया एजेंसी आईएसआई के मुख्‍यालय में करीब दो सा‍ल बाद तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने एक ख़ुफ़िया मीटिंग की. मिली जानकारी के मुताबिक इस मीटिंग का एजेंडा भारत-चीन में जारी तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना की भूमिका तय करना था.

पाकिस्‍तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक राष्‍ट्रीय सुरक्षा पर ब्रीफिंग के लिए आईएसआई के मुख्‍यालय में तीनों सेनाओं के प्रमुखों का इस तरह साथ आना काफी दुर्लभ होता है. हालांकि पाकिस्‍तानी सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि तीनों सेनाओं के प्रमुखों के बीच हुई इस बैठक का एजेंडा नियंत्रण रेखा और कश्‍मीर के हालात पर चर्चा करना था.

इस बैठक में पाकिस्‍तानी सेना के प्रमुख कमर जावेद बाजवा, नेवी चीफ जफर महमूद अब्‍बासी और वायुसेना प्रमुख मार्शल मुजाहिद अनवर खान शामिल हुए. इसके अलावा पाकिस्‍तानी की सेना और आईएसआई के कई आला अधिकारी भी बैठक में मौजूद रहे. डॉन के मुताबिक तीनों सेनाओं के प्रमुख आमतौर पर जॉइंट चीफ ऑफ स्‍टॉफ की कमेटी में मिलते हैं जिसकी बैठक जुलाई 2018 में हुई थी. पाकिस्‍तानी रक्षा व‍िशेषज्ञों का मानना है कि इस बैठक का उद्देश्‍य भारत को रणनीतिक संकेत देना है.



UNSC में अस्थायी सीट पर भारत के चुने जाने से फर्क नहीं पड़ता
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में पांच अस्थायी सीटों के लिए चुनाव के एक दिन पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को कहा कि 15 सदस्यीय परिषद में भारत को अस्थायी सीट मिलना 'नियमित प्रक्रिया' है और इससे पाकिस्तान पर कोई असर नहीं पड़ेगा. भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अस्थायी सदस्य के तौर पर जुड़ने वाला है.

भारत 2021-22 कार्यकाल के लिए एशिया-प्रशांत श्रेणी से अस्थायी सीट के लिए उम्मीदवार है. समूह से एकमात्र सीट के लिए अकेले उम्मीदवार होने के नाते भारत को जीत मिलने वाली है. कुरैशी ने संसद में यह टिप्पणी की. पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के ख्वाजा आसिफ ने कहा कि यूएनएससी में भारत की सदस्यता पर उन्हें बयान देना चाहिए. आसिफ की टिप्पणी पर कुरैशी ने कहा कि भारत को स्थायी सीट मिलने को लेकर उन्होंने बात नहीं की थी, लेकिन अस्थायी सीट के लिए चुनाव हो रहा है, जो कि 'नियमित प्रक्रिया' है.

कोरोना वायरस के मामले 1,50,000 के पार
उधर पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले 1,50,000 के पार चले गए हैं, जबकि 136 लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 2,975 पर पहुंच गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि कोविड-19 के लिए अब तक 950,782 लोगों की जांच की गई है जिनमें से 28,117 जांच पिछले 24 घंटों में की गई.

मंत्रालय ने बताया कि बीते 24 घंटों में 5,839 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इसके साथ ही संक्रमितों की कुल संख्या 154,760 हो गई है. उसने कहा कि देश में एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 136 लोगों की मौत हुई है. इस संक्रामक रोग से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 2,975 हो गई है. पंजाब में कोरोना वायरस के सबसे अधिक 58,239 मामले सामने आए. इसके बाद सिंध में 57,868, खैबर-पख्तूनख्वा में 19,107, इस्लामाबाद में 9,242, बलूचिस्तान में 8,437, गिलगित-बाल्तिस्तान में 1,164 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 703 लोग संक्रमित पाए गए हैं.

ये भी पढ़ें :-

जानें कैसे नेपाल के लिए रोजाना 'लाइफ लाइन' बनता आ रहा है भारत
हर साल करोड़ों की महंगी शराब गटक जाते हैं किम, दुनियाभर के बैंकों में खाते
एक राष्ट्रपति ऐसा भी जो कोरोना में मौत को नियति मानता है
कोरोना को रोकने में लॉकडाउन की रणनीति को अब मददगार क्यों नहीं मान रहे विशेषज्ञ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading