पाकिस्तान के पीएम इमरान ने कहा, हर कीमत पर बनाएंगे चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा

पाकिस्तान के पीएम इमरान ने कहा, हर कीमत पर बनाएंगे चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (File Photo)

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (China-Pakistan Economic Corridor) को किसी भी कीमत पर पूरा करेगी.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (China-Pakistan Economic Corridor) को किसी भी कीमत पर पूरा करेगी. उन्होंने कहा कि 62 अरब डॉलर की यह परियोजना दो देशों की सदाबहार दोस्ती की प्रतीक है. स्थानीय अखबार डॉन की एक खबर के अनुसार, खान ने सीपीईसी परियोजना (CPEC Project) की प्रगति की समीक्षा के लिए यहां आयोजित एक बैठक में कहा कि यह पाकिस्तान के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए शानदार परियोजना है. उन्होंने कहा कि यह विशाल और बहुआयामी मुहिम पाकिस्तान के उज्ज्वल भविष्य की गारंटी है.

यह गलियारा पाकिस्तान और चीन की दोस्ती का प्रतीक: पीएम

खान ने सीपीईसी प्राधिकरण के प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि इसकी कार्यशैली और दक्षता बढ़ाने के लिए उपाय करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि यह गलियारा पाकिस्तान तथा चीन की दोस्ती का प्रतीक है और मेरी सरकार इसे किसी भी कीमत पर पूरा करेगी और यह पाकिस्तान के हर नागरिक को फायदे पहुंचाएगी.



चीन के विदेश मंत्री से हुई थी एक दिन पहले हुई थी बातचीत
इमरान खान का यह बयान ऐसे समय आया है जब चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने एक ही दिन पहले पाकिस्तान के अपने समकक्ष शाह महमूद कुरैशी के साथ फोन पर हुई बातचीत में सीपीईसी परियोजना के बारे में चर्चा की थी. वांग ने पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिये सीपीईसी की परियोजनाओं को तेज करने की जरूरत पर बल दिया था. उन्होंने यह भी उम्मीद व्यक्त की थी कि पाकिस्तान की सरकार वहां काम कर रही चीन की कंपनियों और चीन के लोगों को बेहतर सुरक्षा मुहैया कराएगी.

कोरोना वायरस से प्रभावित हुआ काम: चीनी अधिकारी

सीपीईसी पाकिस्तान के बलूचिस्तान में स्थित ग्वादर बंदरगाह को चीन के शिनजियांग प्रांत से जोड़ता है. यह चीन की कई अरब डॉलर की महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) की प्रमुख परियोजना है. चीन के एक अधिकारी ने पिछले महीने स्वीकार किया था कि बीआरआई के तहत अधिकांश परियोजनाएं कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित हुई हैं. सीपीईसी पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर से होकर गुजरता है- इस कारण भारत शुरुआत से ही इस परियोजना का विरोध करता आया है.

ये भी पढ़ें: दुनिया में 24 घंटे में कोविड-19 के 2.12 लाख केस मिले, अमेरिका, ब्राजील और भारत में सर्वाधिक मामले

नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली बोले- मेरे और राष्ट्रपति के खिलाफ रची जा रही है साजिश

पाकिस्तान में सीपीईसी दूसरी योजनओं और इंफ्रास्ट्रक्चर का एक योग है. इसका निर्माण कार्य 2013 से होता आ रहा है. इसकी लागत मूल्य 46 अरब अमेरिकी डॉलर आंकी गई थी लेकिन वर्ष 2017 में इसकी लागत बढ़कर 62 अरब अमेरिकी डॉलर हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading