गंभीर सूखे से परेशान मेडागास्कर को भारत दे रहा मदद, विदेश मंत्री ने दी जानकारी

एस जयशंकर ने की मेडागास्‍कर के विदेश मंत्री से बात. (File pic)

एस जयशंकर ने की मेडागास्‍कर के विदेश मंत्री से बात. (File pic)

मेडागास्कर (Madagascar ) सरकार द्वारा अपने दक्षिणी इलाके में गंभीर सूखे की स्थिति के कारण उत्पन्न मानवीय संकट से निपटने में अंतरराष्ट्रीय एकजुटता और सहायता की अपील पर भारत सरकार 1000 मीट्रिक टन चावल और एचसीक्यू की 1,00,000 दवा गोलियां मेडागास्कर भेज रही है. इस बारे आतंकवाद स्पॉन्सर करने वालों की तुलना पीड़ितों से नहीं हो सकती, इशारों में पाकिस्तान पर बरसे EAM जयशंकरमें भारतीय विदेश मंत्री (Indian Foreign Minister) एस जयशंकर (S Jaishankar) ने अपने समकक्ष डा. तेहिन्द्रजानारिवेलो ए एस ओलिवा से फोन पर चर्चा कर उन्‍हें जानकारी दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 1, 2021, 10:19 PM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली. विदेश मंत्री (Foreign Minister)  एस जयशंकर  (S Jaishankar)  ने सोमवार को मेडागास्कर के अपने समकक्ष डा. तेहिन्द्रजानारिवेलो ए एस ओलिवा से बातचीत की और गंभीर सूखे की स्थिति के कारण उत्पन्न स्थिति से निपटने में मेडागास्कर को भारत द्वारा मुहैया करायी जा रही खाद्य एवं चिकित्सा सहायता के बारे में जानकारी दी. विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, जयशंकर ने सोमवार को मेडागास्कर के विदेश मंत्री डा. तेहिन्द्रजानारिवेलो ए एस ओलिवा के बीच टेलीफोन पर बातचीत के दौरान उन्हें भारत द्वारा शीघ्र सहायता दिये जाने की जानकारी दी .

बयान के अनुसार, मेडागास्कर सरकार द्वारा अपने दक्षिणी इलाके में गंभीर सूखे की स्थिति के कारण उत्पन्न मानवीय संकट से निपटने में अंतरराष्ट्रीय एकजुटता और सहायता की अपील पर भारत सरकार 1000 मीट्रिक टन चावल और एचसीक्यू की 1,00,000 दवा गोलियां मेडागास्कर भेज रही है. यह मानवीय समायता भारतीय नौसेना के पोत जलस्व के माध्यम से पहुंचायी जा रही है तथा यह पोत खाद्य एवं चिकित्सा सहायता लेकर तीन मार्च को रवाना होगा और इसके 21-24 मार्च 2021 के बीच मेडागास्कर के इहोआला बंदरगाह पहुंचने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें  आतंकवाद स्पॉन्सर करने वालों की तुलना पीड़ितों से नहीं हो सकती, इशारों में पाकिस्तान पर बरसे EAM जयशंकर



मंत्रालय के बयान के अनुसार, बातचीत के दौरान विदेश मंत्री जयशंकर ने भारत और मेडागास्कर के बीच शानदार दोस्ताना द्विपक्षीय संबंधों का स्मरण किया और इस बात का उल्लेख किया कि भारत मानवीय संकट की स्थिति में हमेशा मेडागास्कर के लोगों की सहायता के लिये सबसे पहले आगे आने वाले देशों में रहा है .
ये भी पढ़ें  हिंद-प्रशांत क्षेत्र समेत अन्य कई मुद्दों पर एंथनी ब्लिंकेन और एस जयशंकर के बीच हुई बातचीत

सितंबर 2018 में भी भारतीय नौसेना के पोत के जरिये मेडागास्कर को 1000 मीट्रिक टन चावल की खेप पहुंचायी गई थी . जनवरी 2020 में भी चक्रवात से प्रभावित मेडागास्कर की सहायता करने में भारत आगे रहा था और आईएनएस एरावत के जरिये आपरेशन वनीला के तहत त्वरित सहायता पहुंचायी गयी थी.

विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, जयशंकर ने मेडागास्कर के विदेश मंत्री को आश्वस्त किया कि हिन्द महासागर क्षेत्र में अपने नौवहन पड़ोसी के रूप में मेडागास्कर हमेशा भारत सरकार और यहां के लोगों के समर्थन पर भरोसा कर सकता है. दोनों विदेश मंत्रियों ने साझा हितों के विभिन्न मुद्दों पर भी चर्चा की .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज