लाइव टीवी

म्यांमार में बंधक बनाए गए पांच भारतीय रिहा

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 2:52 PM IST
म्यांमार में बंधक बनाए गए पांच भारतीय रिहा
सांकेतिक तस्वीर

गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि म्यामां के एक सांसद, दो स्थानीय ट्रांसपोर्टरों और दो समुद्री नौका परिचालकों के साथ पांच भारतीयों को बिना किसी कारण के सेना ने रविवार को बंधक बना लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 2:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत सरकार ने मंगलवार को कहा कि उसके ‘सही समय पर किए गए हस्तक्षेप’ से म्यांमार (Myanmar) के रखाइन प्रांत में एक विद्रोही नस्ली समूह द्वारा बंधक बनाए गए पांच भारतीयों और एक सांसद समेत म्यामां के पांच नागरिकों को छुड़ाया जा सका. गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि म्यामां के एक सांसद, दो स्थानीय ट्रांसपोर्टरों और दो समुद्री नौका परिचालकों के साथ पांच भारतीयों को अराकान सेना ने रविवार को बंधक बना लिया था. ये लोग चिन राज्य के पलेटवा से रखाइन प्रांत के क्यायुक्ता जा रहे थे.

बंधक बनाए गए भारतीय म्यामां में कलादान सड़क परियोजना में काम कर रहे थे. बयान में कहा गया, ‘‘बंधन बनाए गए पांच भारतीयों, म्यांमार के एक सांसद और चार अन्य म्यामां नागरिकों की अराकान सेना से छुड़ाने के लिए भारत सरकार ने सही समय पर हस्तक्षेप किया.’

इसमें बताया गया कि अराकान सेना की हिरासत में दिल का दौरा पड़ने से एक भारतीय की मौत हो गई. सूचना के अनुसार उसे लंबे समय से मधुमेह की बीमारी थी. मृतक का शव मंगलवार को यंगून और फिर भारत भेजा जाएगा. अराकान सेना रखाइन स्थित एक विद्रोही समूह है, जिसे यूनाइटेड लीग ऑफ अराकान (यूएलए) की सशस्त्र इकाई के रूप में स्थापित किया गया है.

ये भी पढ़ें:

गरीबी से बेहाल PAK को मिला तुर्की का साथ, माफ कराया 18 हजार करोड़ का जुर्माना

प्रयागराज: सरकारी स्कूल की ये टीचर बनी मिसाल, पीएम मोदी भी कर चुके हैं सलाम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 2:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...