UN मानवाधिकार परिषद का सदस्य चुना गया भारत, 188 वोटों से मिली ऐतिहासिक जीत

एशिया-प्रशांत क्षेत्र से मानवाधिकार परिषद में कुल पांच सीटें हैं, जिनके लिए भारत के अलावा बहरीन, बांग्लादेश, फिजी और फिलीपीन ने अपना नामांकन भरा था. ऐसे में भारत की जीत तय मानी जा रही थी.

News18Hindi
Updated: October 12, 2018, 10:42 PM IST
UN मानवाधिकार परिषद का सदस्य चुना गया भारत, 188 वोटों से मिली ऐतिहासिक जीत
भारत को कुल 188 वोट मिले हैं.
News18Hindi
Updated: October 12, 2018, 10:42 PM IST
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के सदस्य के रूप में भारत ने भारी मतों से जीत दर्ज की है. संयुक्त राष्ट्र की 193 सदस्यीय महासभा में अगले तीन साल के लिए मानवाधिकार परिषद के नए सदस्यों का चुनाव किया गया है.

बता दें कि परिषद के सदस्य गुप्त मतदान द्वारा पूर्ण बहुमत के आधार पर चुने जाते हैं. परिषद में चुने जाने के लिए किसी भी देश को कम से कम 97 वोटों की जरूरत होती है. भारत को 188 वोटों से जीत मिली है.

एशिया-प्रशांत क्षेत्र से मानवाधिकार परिषद में कुल पांच सीटें हैं, जिनके लिए भारत के अलावा बहरीन, बांग्लादेश, फिजी और फिलीपीन ने अपना नामांकन भरा था. इन देशों के बीच भारत की जीत तय मानी जा रही थी. नए सदस्यों का कार्यकाल एक जनवरी, 2019 से शुरू होकर तीन साल तक चलेगा.

Loading...
भारत पहले भी 2011-2014 और 2014 से 2017 दो बार मानवाधिकार परिषद का सदस्य रह चुका है. भारत का अंतिम कार्यकाल 31 दिसंबर, 2017 में समाप्त हुआ.



यूएन में भारत के स्थायी राजदूत सयैद अकबरुद्दीन ने ट्वीट कर इस उपलब्धि की बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि भारत को शानदार जीत मिली है. सभी उम्मीदवारों में भारत को सबसे ज्यादा मत मिले.

इसे भी पढ़ें :-

भारत का संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में चुना जाना लगभग तय
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर